जशपुरनगर नईदुनिया न्यूज।

जशपुर जिले में दसवीं एवं बारहवीं बोर्ड परीक्षा को लेकर विद्यार्थियों को पूरे पाठ्यक्रम का निरंतर अभ्यास कराने के साथ ही शिक्षा गुणवत्ता को बेहतर बनाने के संबंध में कलेक्टर निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर ने आज विडियो कांन्फे्रसिंग के माध्यम से खंड शिक्षा अधिकारियों, सहायकखंड शिक्षा अधिकारियों, बीआरसी, सीएससी को विस्तृत दिशा निर्देश दिए। कलेक्टर ने विडियो कांन्फ्रेसिंग के माध्यम से शिक्षा विभाग द्वारा दसवी ंएवं बारहवीं बोर्ड के परीक्षार्थियों को परीक्षा की तैयारी, प्रश्नपत्र हल करने के ट्रिक एवं विद्यार्थियों के प्रश्नों एवं शंकाओं के समाधान के लिए संचालित मिशन 40 डेज सहित शिक्षा विभाग के अन्य गतिविधियों की गहन समीक्षा की। कलेक्टर ने यशस्वी जशपुर कार्यक्रम के तहत्‌ मिशन 40 डेज के गतिविधियों को सफलता पूर्वक संचालित करने के लिए सभी संकाय सदस्यों को लगातार अपने-अपने स्कूलों का भ्रमण करने और विद्यार्थियों को विषय का अध्यापन कराने के साथ ही प्रश्नो ंका उत्तर लिखने के तरीके बताने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि मिशन 40 डेज का उद्देश्य दसवीं एवं बारहवीं बोर्ड की परीक्षा में जशपुर जिले का परीक्षा परिणाम शत्-प्रतिशत्‌ लाना है। उन्होंने संकाय सदस्यों को पूरे पाठ्यक्रम का अधिक से अधिक बार विद्यार्थियों से लिखवाकर अभ्यास कराने के साथ ही यशस्वी जशपुर द्वारा उपलब्ध कराए गए प्रश्न बैंक का उपयोग सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी सीएससी को स्कूलों का नियमित रूप से दौरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शिक्षक समय पर स्कूल आएं और विद्यार्थियों को पूरे पाठ्यक्रम का अध्ययन अध्यापन कराने के साथ ही परीक्षा से पूर्व उसका रिविजन भी कराए यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने सभी सीएससी को अपने पाक्षिक दौरे की पूर्व सूचना अनिवार्य रूप से जिला शिक्षा अधिकारी को देने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि सभी स्कूलों का बेहतर तरीके से रंग-रोगन कराने के साथ ही शाला परिसर साफ-सुथरा रहे, इसका ध्यान रखा जाए। हमर लईका, हमर स्कूल एप की मॉनिटरिंग भी सीएससी को करने के निर्देश दिए गए। अंतराष्ट्रीय शिक्षा के संबंध में प्रशिक्षण की अद्यतन स्थिति की भी समीक्षा की गई और आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकरी एन कुजूर, यशस्वी जशपुर के नोडल अधिकारी विनोद गुप्ता सहित शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket