रायगढ। थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक मनीष नागर एवं स्टाफ एक सप्ताह से फरार चल रहे चारों आरोपितों को हत्या के प्रयास मामले में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है ।

आरोपितो द्वारा एक राय होकर गजाननपुरम निवासी गौरव मिश्रा के साथ लोहे की पाइप, डंड, लोहे का पंच, टेबल पूल गेम के स्टीक से मारपीट कर गंभीर चोट पहुंचाया गया था। घटना के संबंध में रात्रि गजानंदपुरम मकान नं. 51 निवासी गौरव मिश्रा (21) पिता संतोष मिश्रा थाना कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराया कि शाम करीब 6:30 बजे टेबल पुल खेलने एमजी रोड इन्द्रजीत सेलकाम गया था । वहां पर पार्टनर बनकर खेल रहे थे । गेम में इसका पार्टनर सचिन मिश्रा था और दूसरी तरफ अमन वर्मा एवं शनि सनसोरा थे । ये अपने पार्टनर के साथ गेम हार गया तब इसका पार्टनर सचिन मिश्रा गाली गलौच करने लगा जिसे गौरव ने मना किया तो पुल खेलने वाले स्टीक से मारपीट करने लगा और सचिन मिश्रा अपने साथी चाहत शुक्ला, राजू एवं छोटा बाबू ठाकुर को बुलाया । वे लोग हाथ में राड, हाकी स्टीक, लोहे का पंच लेकर आए और सचिन मिश्रा के कहने पर गालियां देते हुए मारपीट की। आरोपियों के मारपीट से गौरव मिश्रा के सिर में ठुड्डी, कंधे, पीठ में चोट आया है । गौरव मिश्रा के रिपोर्ट पर चारों आरोपियों पर धारा 307, 294, 34 आईपीसी का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।

घटना के बाद से फरार हुए आरोपियों की पतासाजी के लिए थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक मनीष नागर द्वारा मुखबीर एवं स्टाफ लगाकर रखा गया था । आरोपित आदित्य उर्फ चाहत शुक्ला, आदित्य श्रीवास उर्फ राजू, विशाल सिंह ठाकुर तथा सचिन मिश्रा को धर दबोचा गया । आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयुक्त लोहे का पंच, बांस का डंडा,लोहे का पाइप, टेबल पुल खेलने वाला स्टिक जप्त कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है । चारों आरोपित बदमाश किस्म के हैं । आदतन आरोपित चाहत शुक्ला के विरुद्ध थाना कोतवाली में मारपीट, लड़ार्ई झगड़ेे, लूट के कुल 10 अपराध पंजीबद्ध है तथा विशाल सिंह ठाकुर पर 17 अपराध दर्ज हैं । आहत गौरव मिश्रा को इलाज के लिए रायपुर अस्पताल में भर्ती है ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close