रायगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रोलिंग मशीन प्लांट को किराए में लेने के बाद दस्तावेज कुटचरित कर मालिक को करीब दो करोड़ 78 लाख रुपये का चपत लगाने के आरोपित को कोतवाली पुलिस ने रायपुर से गिरफ्तार किया है।

शिकायतकर्ता महेश कुमार गर्ग पिता सुभाष कुमार गर्ग 44 वर्ष निवासी कृष्णाकुंज जीआर विला भगवानपुर ने सिटी कोतवाली में लिखित आवेदन शिकायत की है कि प्रो यूपी स्ट्रकचर मूलचंद कौशिक, निवासी कौशिक एम्स हास्पिटल के पीछे रायपुर ने उसके साथ धोखाधड़ी की है। आरोपित ने आवेदक की कंपनी अनंता री रोलर्स प्राईवेट लिमिटेड को हानि पहुंचाने के उद्देश्य से किरायेदारी का मौखिक समझौता किया और उसने मिल के रिपेयरिंग में करीब डेढ़ करा़ेड रुपये खर्चा किया। एक करोड़ 28 लाख रुपये नगद खर्च किया। इसके बाद आरोपित ने मिल को दो साल तक चलाया। इसके बाद मूलचंद कौशिक ने मिल पर कब्जा कर लिया और दस्तावेजों की कूट रचना कर भिलाई निवासी नरेश राव को बेच दिया । महेश कुमार ने जब मिल में खर्च किए गये रुपये एवं नगदी दिये गये रुपयों को वापस मांग तब मूलचंद कौशिक धमकी देकर गाली-गलौच करने लगा। मामले की जानकारी थाना प्रभारी ने वरिष्ठ अधिकारियों को दी।

वरिष्ठ अधिकारी के निर्देश पर आरोपित मूलचंद कौशिक पिता राजेंद्र कौशिक निवासी कौशिक निवास एम्स हास्पिटल के पीछे सरस्वती नगर रायपुर पर धारा 406, 420 भादवि का अपराध पंजीबद्घ कर विवेचना में लिया गया। एसपी अभिषेक मीना के दिशा-निर्देशन पर रात में ही आरोपित के ठिकानों पर स्थानीय पुलिस की घेराबंदी कराकर स्टाफ रायपुर रवाना किया गया। वहां से आरोपित

को हिरासत में लेकर रायगढ़ लाया गया। पूछताछ एवं साक्ष्य के आधार पर प्रकरण में धारा 409 आईपीसी जा़ेडते हुए धोखाधड़ी, खयानत और गबन के अपराध में गिरफ्तार किया गया। कार्रवाई में कोतवाली निरीक्षक मनीष नागर, उप निरीक्षक बीएस डहरिया, उप निरीक्षक आर.एस. तिवारी एवं हमराह स्टाफ की सराहनीय भूमिका रही है ।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close