रायगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में पिछले छह माह के दौरान सिलसिलेवार हत्या की वारदात से लोग सहमे हैं। पहले लोग चोरी-लूट की वारदात से परेशान थे। अब जघन्य वारदातों से बेहाल हैं। यहां की कानून व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं। बीते छह माह के भीतर विभिन्न वारदातों में 28 लोगों की जान जा चुकी है। तिहरा हत्याकांड सबसे ज्यादा चर्चित रहा। शहर में पखवाड़े भर के अंदर ही दो बहुचर्चित हत्या की वारदात ने लोगों को झंकझोर दिया है। हालां कि पुलिस ने इन हत्याओं का पर्दाफास कर दिया है।

तीन दिन पहले एमएसपी स्टील प्लांट से माल लेकर बीएस स्पंज प्राइपेट लिमिटेड जा रहे ट्रेलर चालक को रास्ते में ही किसी ने चाकू मारकर मौत के घाट उतार दिया। आरोपित ट्रेलर चोरी कर ले गए। इस सनसनीखेज वारदात के सामने आने पर पहले इसे चोरी लूट से जोड़ कर देखा जा रहा है, यह काफी हद तक सत्य भी प्रतीत हुआ है। लेकिन ट्रेलर का डीजल खत्म हो जाने की वजह से इसमें आरोपित सफल नहीं हो पाए। चक्रधर नगर पुलिस सभी पहलुओं पर विवेचना करते हुए भी वारदात की अनसुलझी गुत्थी को सुलझाने में उलझ गई है। वारदात को लेकर अब पुलिस चालक से जुड़े लोगों से सघन पूछताछ कर कड़ी से कड़ी मिला रही है।

गौरतलब हो कि बिहार के छपरा जिले का मुजावना निवासी सुरेश कुमार दुबे पिता सत्यनारायण दुबे (55 वर्ष) रायगढ़ के एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में भारी वाहन चलाता था। पिछले हफ्तेभर से वह श्रद्घा रोड कैरियर के संचालक महेश शर्मा का ट्रेलर क्रमांक सीजी 13 एल 4422 का चालक था। उसका शव तिलगा भगोरा चिटकानी तिराहे में खून से लतपथ मिला। जबकि वह पहाड़ मंदिर के करीब वाहन को खड़ी कर रखा था। चक्रधर नगर पुलिस आलाधिकारियों के दिशा निर्देश पर सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। संदिग्ध व अन्य कंपनी के ट्रेलर चालकों से पूछताछ कर रही है। ताकि आरोपित को कानून के शिकंजे में कसा जा सके। हालांकि यह पुलिस के लिए काफी चुनैती पूर्ण है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close