रायगढ़( नईदुनिया प्रतिनिधि)। बस हादसे में दो की जान तथा दर्जनों लोगोंके चोटिल हो जाने के बाद जिला स्तरीय ट्रैफिक लीड एजेंसी ने प्रशासनिक अमला के साथ दुर्घटना की वजह को जानने के लिए मौका मुआयना कर निरीक्षण किया। जिसमें कई खामियां मिली है उन खामियां को दूर करने का पहल करने की बात सामने आ रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार सुबह लैलूंगा से आ रही सिटी बस क्रमांक सीजी 13 क्यु 0741 के चालक का घरघोडा से पहले ग्राम चारभांठा मोड के पास बस को तेज एवं लापरवाही पूर्वक चलाने से बस से नियंत्रण खोकर बस को रोड से नीचे उतार दिया जिससे बस पलट गई। बस पल्टी होने से गिरी प्रसाद निषाद निवासी कमरीद सरिया एवं सुरेश तिर्की निवासी करवाजोर पखरीटोला लैलुंगा को गंभीर चोटें लगने से मौके पर ही मौत हो गई। जबकि अन्य 28 यात्री घायल थे । दुर्घटना की सूचना पर आसपास के रहवासियों के साथ घरघोड़ा पुलिस द्वारा घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया । घटना की सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारीगण भी मौके पर पहुंचे और व्यवस्था बनाया गया । घटना को लेकर बस के चालक के विरूद्ध थाना घरघोड़ा में अपराध पंजीबद्ध किया गया है । वहीं कलेक्टर के निर्देशन पर हादसे का वास्तविक कारण जानने के लिए जिला आरटीओ अधिकारी दुष्यंत रायत, एसडीएम ऋषा सिंह ठाकुर, एसडीओपी दीपक मिश्रा, यातायात प्रभारी सुशांतो बनर्जी अपने टीम के साथ मौके पर पहुँचे । अधिकारियों ने दुर्घटना स्थल पर सड़क में कमी जैसे गड्ढे, अंधा मोड़ , निर्माण में दोष इत्यादि का जायजा लिया गया और संबंधित अधिकारियों को कमी पूर्ति दुरूस्त कराने निर्देशित किया गया है । इस निरीक्षण का मुख्य उद्देश्य दुर्घटनाओं में कमी लाना और सुरक्षित यातायात से था ।

कलेक्टर एसपी ने मेडिकल कॉलेज पहुंच घायलों का जाना हाल

चारभांटा सड़क हादसे के बाद कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा व पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार ने मेडिकल कॉलेज पहुंच कर घरघोड़ा मार्ग में चारभांठा के पास सड़क दुर्घटना में घायल हुए लोगों का हालचाल जाना और एवं उन्हे तत्काल रेडक्रास सोसायटी से 3-3 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दिलवाई। कलेक्टर सिन्हा ने इलाज कर रहे डॉक्टरों से मरीजों की स्थिति के बारे में जाना और अधीक्षक मेडिकल कॉलज को मरीजों के बेहतर इलाज के निर्देश दिए। मरीजों तथा उनके परिजनों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।वहीं मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार रुपये की सहायता राशि प्रदान की गई है।

एक गंभीर मरीज को भेजा गया रायपुर

सीएमएचओ डॉ. मधुलिका सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि 11 लोगों को घरघोड़ा में प्राथमिक इलाज के बाद बेहतर उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज रायगढ़ रेफर किया गया। 01 मरीज को 108 संजीवनी एम्बुलेंस के माध्यम से रायपुर भेजा गया। जिन्हें हल्की चोट आई है, ऐसे 12 मरीजों का प्राथमिक इलाज घरघोड़ा के अस्पताल में किया गया। जिनमें 2 को ऑब्जर्वेशन में रखकर बाकियों के स्वास्थ्य में सुधार होते ही छुट्टी दी जा रही हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़