रायगढ़( नईदुनिया न्यूज)

भाजपा नेता जगन्नााथ पाणिग्रही ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर महासमुंद जिले में महिला बाल विकास विभाग में भ्रष्टाचार को अवगत कराया है। उन्होंने घटना को शर्मसार करने वाला बताते हुए लिखा है कि 16 मई को महासमुंद जिले में महिला बाल विकास अधिकारी द्वारा सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार साबित होने के बावजूद कार्यवाही नहीं किए जाने के विरोध स्वरूप अपने ही घर पर अनशन में बैठना पड़ा है।

महासमुंद जिले के महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बीस लाख रुपए के मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना उपहार क्रय घोटाला एवं दस लाख रुपए के रेडी टू इट घोटाला के जांच अधिकारी सुधाकर बोदले ने भ्रष्टाचार सिद्घ होने के बावजूद कार्यवाही नहीं होने पर विरोध स्वरूप अनशन में बैठने की बात कही है। उन्होंने बताया वर्ष 2020 में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के लिए जो उपहार क्रय किया गया था। वह मानक स्तर का नहीं था। शिकायत होने पर तत्कालीन कलेक्टर ने उपहार वितरण पर रोक लगाकर सुधाकर बोदले को जांच अधिकारी नियुक्त किया था । साथ ही रेडी टू इट मामले के 10 लाख रुपए के भ्रष्टाचार के जांच करने का आदेश भी दिया गया था । जांच कर प्रतिवेदन प्रेषित किया गया परन्तु वर्ष बीत जाने के बाद भी कार्यवाही नहीं हुई।

इससे खिन्ना होकर जांच अधिकारी ने अनशन की अनुमति मांगी और अपने ही घर पर लाकडाउन के नियमों का पालन करते हुए अनशन पर बैठ गए। अपने ही विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरूद्घ विभाग के ही जिला अधिकारी द्वारा अनशन में बैठना सरकार के लिए शर्मशार करने वाली घटना है। पाणिग्रही ने मुुख्यमंत्री से पांच सवाल करते हुए जवाब की मांग की है।

भाजपा नेता ने उठाए सवाल

1) वर्ष 2020 के भ्रष्टाचार के जांच सिद्घ होने के बाद 2021 तक क्यों कार्यवाही क्यों नहीं कि गई ?

2) पिछले वर्ष क्रय किए गए गुणवत्ता विहीन सामग्री का वितरण इस वर्ष क्यों किया गया ?

3) ईमानदार अधिकारी को क्यों प्रता़डित किया जा रहा है?

4) सामग्री सप्लाई करने वाले एजेंसी कहीं सत्ताधारी राजनीतिक दल के कृपा पात्र तो नहीं हैं?

5) क्या सरकार के उधा पदस्थ व्यक्ति भी तो इस भ्रष्टाचार में संलिप्त नहीं है?

रखी मांगें

1) प्रकरण की न्यायिक जांच हाईकोर्ट के किसी न्यायाधीश से कराएं।

2) दोषियों के विरुद्घ एफ आई आर दर्ज कराएं।

3) नैतिक जिम्मेदारी के तहत विभागीय मंत्री को बर्खास्त करें ।

4) प्रकरण को उजागर करने वाले ईमानदार अधिकारी को प्रताड़ित करने के बजाए सम्मानित करें।

5) पूरे छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं रेडी टू इट योजना के क्रय मानकों का जांच कराएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags