जशपुर/ तपकरा नईदुनिया प्रतिनिधि।

प्रजापिता ब्रम्हकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के द्वारा जिले भर में विभिन्न स्थानों पर महाशिवरात्रि परमात्मा के अवतरण दिवस के रूप में मनाया गया। जिला मुख्यालय के विभिन्न चौक चौराहों में ब्रम्हकुमारी बहनों के द्वारा गुब्बारा उड़ा कर शिव का संदेश दिया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में अनुयायी उपस्थित थे।

नगर के प्रकार पुरानी टोली स्थित प्रजापिता ब्रहृमकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय केंद्र में 8 वीं त्रिमूर्ति शिव जयंती धूमधाम से मनाई गई। यहां अनुयायियों में जमकर उत्साह देखने को मिला। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में नगरपालिका अध्यक्ष एचआर निकुंज, विशिष्ट रूप से बीके सरीता बहन, बीके कुंती बहन व बड़ी संख्या में ब्रम्हकुमारी बहनें व स्थानीय नागरिक उपस्थित थे। यहां एचआर निकुंज ने केंद्र में शिव ध्वज पᆬहराया और केंद्र की सरीता बहन ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए इस दिन के महत्व पर प्रकाश डाला। 82 वीं शिव जयंती समारोह के अवसर पर एचआर निकुंज कहा कि ब्रहमकुमारी विश्वविद्यालय के द्वारा स्वस्थ्य समाज की स्थापना में एक स्वस्थ्य और प्रेरणादायी विचारों के साथ कार्य किया जा रहा है। बहनें समाज को एक विचारधारा के साथ अच्छे कार्य के लिए संगठित कर रही हैं। ब्रहृकुमारी सरीता बहन ने शिव त्रिमुर्ति शिव जयंती के अवसर पर बोलते हुए कहा कि शिव जयंती निराकार परम पिता परमात्मा साकार मनुष्य सृष्टि पर दिव्य और अलौकिक अवतरण का स्मृति दिवस है। उन्होंने कहा कि हम इस संसार में जिस किसी का भी जन्म दिवस मनाते हैं, उसे जन्म दिवस कहते हैं लेकिन शिव के लिए शिवरात्री कहते हैं। इसके लिए उन्होंने कहा कि अज्ञान अंधकार और आसूरी लक्षणों का सूचक है। आज विश्व में चारों ओर चिंता, भय और निराशा का वातावरण है। प्राकृतिक आपदाओं के पहाड़ टूट रहे हैं। ऐसे समय में ज्ञान रूपी परमात्मा शिव अंधकारों और विकारों को मिटाने के लिए प्रकट होते हैं। उद्बोधन के बाद शिव के संदेश पंपलेट के रूप में बांटे गए और धूमधाम से शिव जंयती मनाया गया। इसके साथ ही अनुयायियों के साथ बहनों ने विभिन्न चौक चौराहों पर गुब्बारे उड़ाए और परमात्मा का संदेश दिया। बहनों के द्वारा नगर के महाराजा चौक, मिलन चौक, करबला चौक सहित अन्य स्थानों पर भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया और गुब्बारे उड़ाते हुए परमात्मा के संदेश दिए गए। इस अवसर पर बड़ी संख्या में महिलांए, पुरूष नगर के उपस्थित थे। इस अवसर पर केक भी काटे गए और परमात्मा सहित बच्चों के जन्म दिन के रूप में दिन को मनाया गया। सरीता बहन ने कहा कि आज के दिन मादक पदार्थों को नहीं बल्कि अपने अंदर की बुराईयों को शिव के समक्ष समर्पित कर सात्विक जीवन जिने का संकल्प लें। संकल्प लेते हुए कार्यक्रमा का समापन किया गया। यहां के कार्यक्रम के बाद बहनें गांव-गांव में नशा मुक्ति व शिव का संदेश लेकर निकलीं।

तपकरा में आयोजित हुआ कार्यक्रम

तपकरा में संस्था के द्वारा जमुना रोड स्थित सुख शांति भवन में महाशिवरात्रि पर कार्यक्रम का आयोजन अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। यहां मुख्य रूप से जिला पंचायत सदस्य डॉ अजय शर्मा, थाना प्रभारी एमजे पिᆬर्दोषी, बीडीसी संतोष जसवाल सहित बीके शांति बहन उपस्थित रहीं। बीके शांति बहन ने शिवरात्रि के महत्व बताते हुए कहा कि परमात्मा आज के दिन सहज ही प्रसन्न होते हैं। उन्होंने कहा कि शिव पर अक, धतुरा व गंधहीन पुष्प चढ़ाते हैं, जो बुराइयों का प्रतिक है। परमात्मा मनुष्य से काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार, बुराईयों का दान मांगते हैं। जो विकारों को परामात्मा पर चढ़ा देते हैं, वो सतयुगी देवी स्वराज्य के अधिकारी बन जाते हैं। यहां डॉ अजय शर्मा सहित अन्य अतिथियों ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना