रायगढ़ । नईदुनिया प्रतिनिधि

चुनाव बहिष्कार की धमकी लेकर शुक्रवार को बड़ी संख्या में महिलाएं कलेक्टोरेट पहुंची थी। शहरी इलाकों में पट्टा के सर्वे में कौहाकुंडा को शामिल नहीं करने से नाराज होकर महिलाओं ने विरोध जताया और राजस्व तथा नगर निगम के बीच की इस तकनीकी चूक का निराकरण कर पट्टा दिए जाने की मांग प्रशासन से की है।

राज्य सरकार द्वारा दिए जा रहे पट्टे के लिए शहर के सभी वार्डों में सर्वे का काम चल रहा है लेकिन वार्ड 25 कौहाकुंडा में एक अजीब समस्या निर्मित हो गई है। दरअसल सालों पहले ग्राम पंचायत पंडरीपानी में रहे कौहाकुंडा को अधिसूचना प्रकाशित कर नगर निगम की सीमा में शामिल किया गया था लेकिन भौगोलिक दृष्टि से वार्ड का कुछ हिस्सा राजस्व रिकार्ड में अभी भी पंचायत में ही शामिल बताया जा रहा है। राजस्व विभाग के अफसरों के अनुसार यह हिस्सा ग्रामीण इलाके में ही आता है लेकिन वोटबैंक के चक्कर में इन इलाके के लोगों को शहर की सीमा में मानकर शामिल कर लिया गया है। इसलिए वार्ड निवासी के रूप में वोट डालकर एवं निगम को टैक्स अदा कर मोहल्लेवासी अपना फर्ज निभा रहे हैं लेकिन अब पट्टा देने के लिए सर्वे करने की बात सामने आई तो अफसरों ने पल्ला झाड़ लिया है। शुक्रवार को इसी बात को लेकर कौहाकुंडा वार्ड से बड़ी संख्या में महिलाएं कलेक्टोरेट पहुंची थी। जिला प्रशासन को अपना शिकायती ज्ञापन सौंपकर महिलाओं ने नजूल अफसर से भी अपनी परेशानी बताई और पट्टे के लिए सर्वे में शामिल करने की गुजारिश की। महिलाओं ने अपने सौंपे गए ज्ञापन में बताया है कि यदि पट्टे के लिए उनके इलाके में सर्वे नहीं किया जाता है तो आने वाले निगम चुनाव में मोहल्ले समेत पूरे वार्ड में चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा। जिसके बाद प्रशासन के अफसर भी दबाव में आ गए हैं।

कौहाकुंडा का कुछ इलाका राजस्व रिकार्ड में ग्रामीण इलाके में शामिल बताया जा रहा है। इसलिए वहां पर सर्वे का काम नहीं किया जा सकता है। महिलाओं ने शिकायत की है। अभी इस मामले का परीक्षण करवा रहे हैं और मोहल्लेवासियों के लिए जो भी संभव होगा, नियमों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

आरए कुरूवंशी, अपर कलेक्टर

Posted By: Nai Dunia News Network