रायगढ़। प्रदेश के उत्तर क्षेत्र सरगुजा संभाग अंबिकापुर में पारा गिरने से इसका असर रायगढ़ में भी पड़ने लगा है। इससे मौसम का मिजाज बदल गया हैं। सर्द हवाओं ने जिले को ठंड के आगोश में ले लिया। इससे शहर का तापमान में 5- 6 से डिग्री सेल्सियस की कमी दर्ज की गई है। जिससे सुबह शहर कोहरा से लिपटा नजर आया तो दोपहर में आद्रता के चलते ठंडक बढ़ गई है। दिन भर लोगों को गर्म कपड़े से लदे हुए नजारा आम बन गया।

जिले में कुछ दिनों पहले कड़ाके की ठंड तो कभी गर्मी का अहसास हो रहा है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान के बीच काफी अंतर था। इससे स्वास्थ्य पर इसका विपरीत इसका असर भी हो रहा है। अब ठंड बढ़ने से सर्दी, खांसी, बुखार के साथ सिरदर्द और हाथ पैर में दर्द जैसी समस्या बढ़ गई है। यह समस्या सबसे अधिक छोटे बच्चों व बुर्जुग वर्ग को प्रभावित कर रही है। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर-पूर्व से आ रही शुष्क और ठंडी हवाओं का आना जारी है। जिस वजह से उतार चढ़ाव बना हुआ है। हालांकी रात में तापमान में और गिरावट की संभावना बनी हुई है। वही, पड़ोसी जिला अम्बिकापुर व जशपुर में कड़ाके की ठंड शीतलहर की तरह पड़ रहा है। मौसम जानकारो के मुताबिक इसकी वजह से शहर में ज्यादातर जगह में कोहरा छा रहा है। और ठंड भी बढ़ रहा है।बहरहाल शहर में दिन भर ठंड का एहसास लोगों को होने लगा है। यही हाल ग्रामीण अंचल का भी है जहां लोगो को वातावरण में नमी होने से ज्यादा ठंडक है।

नवजात, बच्चों, बड़े बुजुर्गों के सेहत पर पड़ रहा असर

पखवाड़े भर से मौसम में उतार चढ़ाव हैं। ऐसे में ठंड के दिनों में गर्मी का एहसास होने लगा था। लेकिन अब मौसम का मिजाज फिर से बदल गया जिसके बाद ठंड बढ़ने लगा। यह ठंड छोटे बच्चों से लेकर सभी वर्गों पर उनके सेहत पर विपरीत असर डाल रहा है। जिला अस्पताल, मेकाहारा, व निजी अस्पताल के ओपीडी काउंटर में भीड़ उमड़ रही है।

दिन भर सर्द हवाओं से ठंडक का अत्यधिक एहसास

इस बार अक्टूबर के शुरुवात से ही मौसम मे तेजी से बदलाव आया है और सूरज के ढलते ही मौसम मे बदलाव से पारा नीचे आने लगता है ,जानकारो के अनुसार सर्द हवाएं उत्तर से पूर्व की और बहने से ठंड का एहसास होता है वही जानकारों ने यह भी कहा है की दशकों पहले सितम्बर माह के अंत से ही प्रकृति अपना रूप दिखाने लगता था परंतु अब प्रदूषण की मार झेल रहे देश मे मौसम पर भी व्यापक असर पड़ा है ।

मौसम मे बदलाव बढ़ने लगी बीमारी

मौसम के बदलाव के साथ ठंड ने जहां दस्तक दिया है वही मौसम मे नमी के कारण इस बदलाव से बच्चों मे संक्रामक बीमारी सर्दी - जुकाम बुखार की शिकायत बढ़ने लगी है। डाक्टरों ने बदलते मौसम के मददेनजर बच्चों, बुजुर्गों का विशेष ध्यान एवं खान पान का सलाह को नियमित समय पर ऐतिहायाद बरतते हुए खाने की सलाह दे रहे है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close