रायगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छाल क्षेत्र की जर्जर सड़क को लेकर लोगों में आक्रोश इस कदर है कि महज एक सप्ताह में ही दो बार सड़क बाधित कर प्रदर्शन कर दिया। छाल के ग्रामीणों ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों के नेतृत्व में जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शन से सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस मार्ग में आवागमन करने वाले लोगों को एक तरफ खराब सड़क से जूझना पड़ रहा है वहीं जाम ने अतिरिक्त मुसीबत खड़ा कर दिया।

तय कार्यक्रम के मुताबिक युवा नेता नवल राठिया के नेतृत्व में मंगलवार सुबह नौ बजे से चंद्रशेखरपुर एवम छाल क्षेत्र के ग्रामीण स्थानीय व्यापारी एवम स्कूली बधाों के अभिभावक ने सड़क संबंधी विभिन्ना समस्या को लेकर आर्थिक नाके बंदी कर सड़क में उतरकर जमकर धरना-प्रदर्शन किया। वहीं दोपहर में घंटों बाद स्थानीय प्रशासन के लोग नींद से जागे और धरना स्थल पर छाल तहसीलदार उमेश्वर बाज, पीडब्ल्यूडी एसडीओ सीके साहू, एसईसीएल सब एरिया मैनेजर दिलीप बोबड़े लोगों को समझाइश देने वहां पहुंचे। वहीं पीडब्लूडी अधिकारी के धरना स्थल पहुंचने पर वहां मौजूद जन प्रतिनिधियों ने एसडीओ को फूलमाला पहनाकर व ताली बजाकर उन पर तंज कसे। युवा नेता नवल राठिया ने कहा कि धन्य है पीडब्लूडी विभाग के अफसर के दर्शन प्राप्त हुए। आज जनता धरने पर बैठी है तो स्वयं चलकर आए हैं। सात अक्तू बर 2021 को सड़क का टेंडर हो चुका है, लेकिन इसके निर्माण में लापरवाही बरती गई। बहरहाल आंदोलन की वजह से पीडब्लूडी विभाग लिखित में एसईसीएल को रोड बनाने के लिए एनओसी देने तैयार हो गई, इधर एसईसीएल प्रबंधन के अधिकारी का कहना है कि एनओसी मिलने के बाद उनके मुख्यालय से अनुमति मिलने के पश्चात जल्द ही सड़क निर्माण कार्य चालू कर दी जाएगी। वर्तमान में पेंच रिपेयरिंग जल्द से जल्द किया जायेगा, और बरसात से पहले डामरीकरण हो जायेगा। वही जन समस्या को लेकर पीडब्ल्यूडी एवं एसईसीएल के खिलाफ धरना प्रदर्शन आर्थिक नाकेबंदी को सफल बनाने में सर्वदलीय मंच से युवा नेता नवल राठिया, नेत्री रजनी राठिया, आदिवासी समाज प्रमुख महेंद्र सिदार, सहित क्षेत्र के समस्त ग्रामीण जन, सजन सियान, किसान भाई सहित स्थानीय व्यापारी तथा स्कूली बधाों के पालकों की महत्वपूर्ण भूमिका दिखी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close