रायगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के चेयरमैन नवीन जिंदल के नाम ध्ामकी भरे पत्र लिखकर पांच मिलियन ब्रिटिश पाउंड यानी 50 करोड़ रुपये की मांग और राशि नहीं देने के मामले की जांच तेज हो गई है। कोतरा रोड थाना प्रभारी गिरधारी साव ने मामाले की जांच शुरू करने और आवेदक का बयान लिए जाने की बात कही है।

गौरतलब है कि उद्योगपति नवीन जिंदल की स्वामित्व वाली जिंदल स्टील एण्ड पावर लिमिटेड पतरापाली के महाप्रबंधक सुधीर राय को 18 जनवरी को डाक के माध्यम से एक लिफाफा प्राप्त हुआ। जिसे उन्होंने 23 जनवरी को खोल कर पढ़ने पर पाया कि केन्द्रीय जेल बिलासपुर के बंदी क्रमांक 4563/97 द्वारा चेयरमेन जिंदल स्टील एण्ड पावर लिमिटेड नवीन जिंदल को संबोधित करते हुए असभ्य, अपमानजनक भाषा में लेख कर पांच मिलियन ब्रिटिश पाउंड की मांग की गई है। 48 घण्टे के भीतर राशि नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गई है। लाल डाट पेन में लिखे धमकी भरे पत्र के पीछे भाग में जितेन्द्र कुमार जैन द्वितीय अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जांजगीर चांपा छत्तीसगढ़ नौ जनवरी 2013 का हिन्दी में कंयूटर टायपिंग प्रतिपरीक्षण वास्ते आरोपित मुकेश द्वारा शंकर लाल अधिवक्त ा लिखा है। यह छायाप्रति है और इसे लाल डाट पेन से क्रास कर काटा गया है । महाप्रबंध्ाक सुध्ाीर राय ने प्राप्त डाक की मूल प्रति सहित लिखित शिकायत कोतरारोड थाने में पंजीबद्ध कराया है। लिफाफे के ऊपर प्रेषक का नाम आई जुनार राजेन्द्र नगर बिलासपुर लिखा है। महाप्रबंध्ाक सुध्ाीर राय ने विषय की गंभीरता को देखते हुए आरोपित के विरूद्व दंडात्मक कार्यवाही करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि चेयरमेन नवीन जिंदल को किसी भी तरीके की शारीरिक, आर्थिक अथवा अन्य किसी प्रकार की हानि या नुकसान का सामना ना करना पड़े। शिकायत पर कोतरारोड पुलिस ने बिलासपुर सेंट्रल जेल के बंदी क्रमांक 4563/97 के विरूद्ध भादवि की धारा 386, 506 के तहत प्रथम सूचना पत्र पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।

बिलासपुर सेंट्रल जेल में बंद कैदी ने दी धमकी

केंद्रीय जेल बिलासपुर में बंद बैंक लूट के आरोपित ने उद्योगपति नवीन जिंदल को धमकी भरा पत्र लिखा है। जिंदल स्टील के अधिकारियों ने इसकी शिकायत रायगढ़ जिले के कोतरा रोड थाने में की। इस पर पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामला सामने आने के बाद केंद्रीय जेल प्रबंधन ने भी जांच शुरू कर दी गई है। प्राथमिक जांच में पत्र लिखने वाले की पहचान हो गई है। अब जेल प्रबंधन पत्र बाहर कैसे गया, इसका पता लगाया जा रहा है। केंद्रीय जेल अधीक्षक कोमेश मंडावी ने बताया कि कोतरा रोड थाने में उद्योगपति नवीन जिंदल को धमकी भरा पत्र लिखे जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पत्र के लिफाफे में भेजने वाले का पता कंेद्रीय जेल बिलासपुर और प्रेषक का नाम आई जुनार राजेंद्र नगर बिलासपुर लिखा था। रायगढ़ से इसकी सूचना मिलने के बाद बिलासपुर एसपी पारुल माथुर ने जांच की। प्राथमिक जांच में पता चला है कि केंद्रीय जेल बिलासपुर में बंद कैदी पुष्पेंद्र नाथ चौहान ने धमकी भरा पत्र दिखा है। उसकी हेंडराइटिंग की पहचान कर ली गई है। पूछताछ में पुष्पेंद्र ने पत्र लिखने की बात स्वीकार की है। इसके अलावा पत्र जेल से बाहर कैसे निकला इसकी जांच की जा रही है। आरोपित इस संबंध में गोलमोल जवाब दे रहा है। जांच के बाद मामला स्पष्ट होगा।

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के सीएम के नाम भी पत्र

आरोपित पुष्पेंद्र नाथ चौहान को जांजगीर-चांपा पुलिस ने बैंक लूट के मामले में गिरफ्तार किया है। उसे न्यायालय से सजा भी मिल चुकी है। वह जेल में अपनी सजा काट रहा है। इस बीच उसने ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को भी धमकी भरा पत्र लिख चुका है। दोनों राज्यों की टीम ने इसकी जांच की है।

उत्तराखंड हाई कोर्ट जज को भेजा था धमकी भरा पत्र

आरोपित पुष्पेंद्र नाथ चौहान आए दिन देश के प्रसिद्ध लोगों को धमकी भरा पत्र लिखता है। कुछ दिनों पहले ही उसने उत्तराखंड के हाई कोर्ट जज को भी धमकी भरा पत्र भेजा था। पत्र मिलने के बाद उत्तराखंड पुलिस की टीम शहर में जांच के लिए आई थी। जेल में जाकर पुलिस ने उससे पूछताछ भी की। यह मामला अभी चल ही रहा था। एक और मामला सामने आ गया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close