रायगढ़(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोनाबंदी के कारण शहर में कालाबाजारी और जमाखोरी बढ़ गई है। जिले की सीमाएं सील होने का बहाना बनाकर थोक व चिल्हर व्यवसायियों ने आटा ,दाल से लेकर तेल व शक्कर के दाम बढ़ा दिए हैं और सब्जी व्यवसायियों भी मौके का फायदा उठा कर मनमाने रेट में बेच रहे हैं लेकिन मजबूरी में ग्राहकों को खरीदारी करनी पड़ रही है।

कोरोनाबंदी के खौफ के बीच राशन के बढ़े दाम भी लोगों की परेशानी का कारण बन गए हैं। लॉकडाउन किए जाने के बाद बीते हफ्ते भर में ही सभी कमोडिटी के दाम 25 से 40 प्रतिशत तक बढ़ गए हैं लेकिन मजबूरी में खरीदी कर रहे ग्राहक चाहकर भी इसकी शिकायत नहीं कर पा रहे हैं। सुबह 5 से 9 तक 4 घंटे खुलने वाली दुकानों में लाइन लगाने के बाद भी शहरवासियों को बढ़े हुए दामों में सामान लेना पड़ रहा है। कोरोनाबंदी के दौरान व्यवसायी ग्राहकों की जेब काट रहे हैं, लेकिन प्रशासन या खाद्य औषधि प्रशासन विभाग कुछ नहीं कर पा रहा है। जिससे ऐसे कालाबाजारियों की भी मौज हो गई है। शहर में जमाखोरी व कालाबाजारी बढ़ जाने के कारण थोक व चिल्हर मार्केट में आटा, दाल,शक्कर,मैदा व सब्जियों के भी दाम हफ्ते भर के भीतर ही 25 से 40 प्रतिशत तक बढ़ गए हैं। शहर में खाने के तेल की कीमत 70 से 90 रुपए टीन बढ़ी है। यह पहले 1400 रुपए के आसपास मिल रहा था, जो अब 1470 से 1490 में मिल रहा है। चिल्हर कीमत में भी 5 रुपए तक बढ़ोतरी कर दी गई है। राहर दाल 80 रुपए प्रति किलो से बढ़कर 100 रुपए पर जा पहुंची है। पतला चावल जो 50 से 60 रुपए किलो में मिल रहा था, वह 80 रुपए किलो तक जा पहुंचा है। 25 रुपए प्रति किलो में मिलने वाला मोटा चावल 40 रुपए पहुंच गया है। कोरोनाबंदी के दौरान किसी तरह की कार्रवाई नहीं होने के कारण व्यापारी मनमाने दामों में सामान बेच रहे हैं। जिससे शहरवासियों को कोरोना के साथ महंगाई के लिए भी रोना आ रहा है।

केस 1

सत्तीगुड़ी चौक स्थित राशन की एक थोक दुकान से राकेश अग्रवाल (बदला हुआ नाम) ने 20 तारीख को 30 किलो की आटा की पैकेज 840 में ली थी लेकिन गुरूवार हो वो दोबारा लेने पहुंचे तो उसी दुकानदार ने वही आटे की पैकेट उन्हें 1130 रूपये में दी ,मतलब हफ्ते भर के भीतर ही इसके दाम करीब 35 प्रतिशत तक बढ़ गए।

केस 2

कोतरा रोड निवासी पंकज कुमार ने बताया कि शहर के सब्जी मंडी से उन्होंने 21 मार्च को टमाटर 15 रूपये और पत्तागोभी 20 रूपये की दर से खरीदी थी लेकिन गुरूवार की सुबह टमाटर के लिए 50 रूपये और पत्तागोभी के लिए 40 रूपये देने पड़े। कोरोनाबंदी के कारण दाल में 20 और शक्कर में भी 5 रूपये प्रति किलो की बढ़ोतरी हो गई है

रात में माल भरेंगे व्यवसायी

प्रशासन ने थोक व्यापारियों को माल मंगवाने के लिए कुछ छूट दी है। ऐसे व्यवसायी बाहर से ट्रांसपोर्ट में आने वाला सामान व सब्जी रात 11 बजे से सुबह 5 तक अपने गोदामों में डंप करवा सकते हैं। बुधवार से यह व्यवस्था की गई है लेकिन कोरोना के कारण ड्रायवर हमाल नहीं मिलने से ट्रांसपोर्टर भी इसके लिए तैयार नहीं है और रास्ते में जो गाड़िया खड़ी हैं,उन्हें भी जिले में सीमाबंदी के कारण आने नहीं दिया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket