रायगढ़(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोनाबंदी के बीच शहर में सामाजिक संगठन व वांलिटियर्स लोगों को जागरूक करते हुए मदद भी कर रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान शहर में जरूरतमंदों तक दवा,राशन और भोजन पहुंचाने के लिए सामाजिक संगठन, युवा व शहरवासी ही अपना फर्ज निभा कर लोगों की मदद कर रहे हैं।

14 अप्रैल तक कोरोनाबंदी के कारण रायगढ़ पूरी तरह से लॉकडाउन हो रखा है। लोग घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। ऐसे में इमरजेंसी में उन्हें दवा या अन्य चीजों की भी जरूरत हो रही है। वहीं कई मजूदर एवं बाहर से आकर कमाने खाने वाले लोग भी हैं जो कि लॉक डाउन के कारण यहां पर फंसे हुए हैं। उद्योगों के बंद होने के कारण गाड़िया चलनी बंद हुई तो सैकड़ों ड्रायवर,क्लीनर एवं हमाल अब मुसीबत का सामना कर रहे हैं। होटल दुकान व सब कुछ बंद होने के कारण इन्हें खाना या जरूरत का सामान नहीं मिल रहा है। ऐसे में शहर के श्याम मंडल, लायंस क्लब एवं अन्य सामाजिक संगठनों ने मदद शुरू की है। श्याम मंडल ने अपने कुछ वांलिटियर्स के नंबर भी जारी किए हैं और निशुल्क भोजन उपलब्ध कराने के लिए मदद की पेशकश की है। मंडल के राजेश अग्रवाल 9827118700 और दीपक मित्तल 9827401573 पर फोन कर मदद ली जा सकती है। इसके अलावा पूर्व विधायक रोशनलाल के पुत्र गौतम अग्रवाल ने भी अपनी टीम के साथ शहर में लोगों को दवा उपलब्ध करवाने का जिम्मा लिया है। वाट्सअप नंबर पर डाक्टर की पर्ची मंगवाकर संबंधित व्यक्ति को उसके घर में होम डिलीवरी दवा पहुंचाने का काम किया जा रहा है। गुरूवार को शहर के सूर्या विहार में फंसे किसी मजदूर परिवार के लॉकडाउन में फंसे होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद गौतम की टीम के वांलिटियर्स ने संबंधित मजदूरों को हफ्ते भर का राशन और बच्चों के लिए बिस्किट के पैकेट की निशुल्क व्यवस्था कराई। शहर में डा राजू अग्रवाल एवं गणेश पटेल भी फोन पर मरीजों की मदद कर रहे हैं। इसके अलावा कुछ युवाओं ने इमरजेंसी में निशुल्क एंबुलेंस एवं ब्लड भी उपलब्ध कराने के लिए सोशल मीडिया में अपील की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket