रायगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना से लड़ने के लिए सरकार को दान देने के लिए जिले में लगातार लोग सामने आ रहे हैं। मंत्री उमेश पटेल व विधायक उत्तरी जांगड़े की पहल के बाद जिपं अध्यक्ष निराकार ने भी अपना एक माह का वेतन दान दिया है और अब पार्षदों के साथ विभिन्न कर्मचारी व लिपिक संघ भी अपना एक दिन का वेतन दे रहे हैं।

वैश्विक महामारी के रूप में सामने आई कोरोना से निपटने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार ने लोगों से मदद मांगी तो अब पीएम राहत कोष एवं मुख्यमंत्री सहायता कोष में सहयोग करने वाले दानदाताओं की संख्या बढ़ती जा रही है। प्रदेश में सर्वप्रथम वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा ने अपने एक माह का वेतन कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए राज्य सरकार को दिया था और इसके बाद मंत्री उमेश पटेल, सारंगढ़ विधायक उत्तरी जांगड़े ने भी अपना धर्म निभाकर एक माह का वेतन दान किया है। इसी कड़ी में नव निर्वाचित जिपं अध्यक्ष निराकार पटेल ने भी दिलेरी दिखाई और अपने पहले महीने का ही पूरा मानदेय दान करने की घोषणा की है। इसी तरह पार्षद व एमआईसी सदस्य कमल पटेल के अलावा निगम के करीब आधा दर्जन पार्षदों ने भी अपना एक महीने का वेतन दान देने का एलान किया है। जनप्रतिनिधियों के अलावा जिले में विभिन्न कर्मचारी संगठनों ने भी अपना फर्ज निभाकर सहायता की है और कोरोनाबंदी से हुए नुकसान के लिए सरकार के खजाने में अपने एक दिन का वेतन देने के लिए राज्स सरकार से सिफारिश कर दी है। इसमें जिला स्तरीय लिपिक वर्ग संघ,क्रांतिकारी शिक्षक संघ एवं अन्य कर्मचारी संगठनों ने भी एक दिन का वेतन सहर्ष दान करने की सहमति दी है। इसके अलावा कुछ व्यवसायी एवं प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले अधिकारी व कर्मचारी भी पीएम रिलीफ फंड में कोरोना के लिए ऑनलाइन मनी ट्रांसफर कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket