रायगढ़। Lockdown in Chhattisgarh : प्रदेश से लेकर देश के नेता और प्रशासनिक अमला जब आम जनता को घर से नहीं निकलने और सुरक्षित रहने की सीख दे रहे हैं। तब मंत्रीजी रायपुर में बैठे-बैठे बोर हो रहे थे। रायगढ़ में बाबाजी के दर्शन की इच्छा हुई और निकल पड़े। वहां जब मीडिया के लोगों ने घेर लिया तो अपने रायगढ़ दौरे का बखान करते नहीं थक रहे हैं। उनका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। छत्तीसगढ़ के कोंटा विधानसभा क्षेत्र से पांच बार के सीनियर विधायक कवासी लखमा वर्तमान में छत्तीसगढ़ सरकार में आबकारी और उद्योग मंत्री हैं। लखमा अपने विवादित बयानों के कारण अक्सर चर्चा में रहते हैं। उनके बिगड़े बोल से अनेक बार किरकिरी हो चुकी है।

ऐसा कहा जाता है कि छत्तीसगढ़ के आबकारी और उद्योगमंत्री कवासी लखमा का विवादों से गहरा नाता है। लॉकडाउन के दौरान नियम तोड़कर अनावश्यक दौरा करने के सवाल पर बिंदास होकर मीडिया से अपने घुमने की कहानी बयां करते नजर आते हैं। ऐसा करके एक बार फिर मंत्री जी विवादों में आ गए हैं।

पड़े-पड़े बोर हो रहा था, चला आया

वे कहते हैं कि रायपुर में पड़े-पड़े बोर हो रहा था। रायगढ़ में बाबाजी के दर्शन की इच्छा हुई तो चला आया। अचानक उनके पहुंचने से प्रशासनिक अमले में खलबली मच गई। रायगढ़ घुमने और समय व्यतीत करने के इरादे से आए आबकारी मंत्री ने कोसमनारा स्थित बाबाधाम में दर्शन भी करने गए। इस दौरान बाबा सत्यनारायण का दर्शन करने उनके साथ पूरा काफिला साथ था। बाद में थ्री स्टार होटल अंश में मंत्री के रूकने की व्यवस्था की गई।

रात में यकायक पहुंचे रायगढ़

लॉकडाउन के 25वें दिन शनिवार रात 9 बजे सूबे के आबकारी मंत्री कवासी लखमा रायपुर से यकायक रायगढ़ आते हैं। उनके आने की सूचना कांग्रेस कमेटी, वरिष्ठ नेताओं अथवा विधायक समेत किसी भी नेता को नही थी। मंत्री ने तीन जिलों की सीमा को पार करते हुए रायगढ़ में कदम रखा। यह लॉकडाउन का खुला उल्लघंन नहीं हुआ? जबकि दो दिन पहले कांग्रेस आलाकमान ने अपने मंत्रियों और नेताओं को लॉकडाउन का पालन करने के लिए सख्त हिदायत दी थी।

शराब की अवैध बिक्री पर कही ऐसी बात

जिले में अवैध शराब की बिक्री के मामले से जुड़े सवाल करने पर आबकारी मंत्री ने दो टूक शब्दों में कहा कि कांग्रेस हो या भाजपा,अधिकारी कर्मचारी अगर शराब के गोरखधंधा में संलिप्ता पाए जाते हैं तो कार्रवाई की जायेगी और जेल भेजा जाएगा। आबकारी विभाग की सरपरस्ती में सीलबंद दुकानों से भी शराब निकालने के सवाल पर मंत्री बोले की यह गंभीर मामला है और वे विभागीय कार्रवाई करेंगे साथ ही एसपी कलेक्टर को निर्देशित करेंगे कि नियमों का सख्ती से पालन हो।

ऐसे रहे हैं मंत्री के विवादित बोल

लखमा का शिक्षक दिवस के कार्यक्रम का वीडियो पहले भी वायरल हुआ था। वीडियो के मुताबिक सुकमा जिले के पावारास स्कूल के बच्चों से उन्होंने जो कुछ कहा, वह आइएएस और आइपीएस वर्ग को नाराज करने वाली थी। वायरल वीडियो में लखमा बच्चों से यह कहते दिख रहे हैं कि बड़ा नेता बनना है, तो एसपी-कलेक्टर की कॉलर पकड़ो। आबकारी मंत्री के इस बोल की प्रशासनिक महकमे में जमकर आलोचना हुई थी।

Posted By: Anandram Sahu

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना