रायगढ़( नईदुनिया प्रतिनिधि)

नगर निगम क्षेत्र में सापᆬ-सपᆬाई में बरती जा रही लापरहवाही डेंगू मरीजों की बढ़ती संख्या के रूप में सामने आने लगी है। एक ओर निगम और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी डेंगू- मलेरिया से बचाव के लिए जन जागरूकता अभियान चलाने की बात कह रहे हैं दूसरी ओर हर दिन डेंगू के नए मरीज मिल रहे हैं। इस सीजन में अब तक 16 मरीजों की पहचान की जा चुकी है। नगर निगम के अधिकारी और जनप्रतिनिधियों की कथनी और करनी में फर्क के कारण ही शहर व्यस्त एसईसीएल मैरिन ड्राइव की सड़क बदहाल है और यहां बने बड़े-बड़े गड्ढों में जाप पानी से मच्छरों को पनपने का मौका मिल रहा है। दरअसल शरह में पानी आपूर्ति और ट्रीटमेंट प्लांट के लिए पाइप लाइन बिछाने मनमाने ढंस से सड़क की खुदाई की जा रही है। इसके बाद सड़क अस्त-व्यस्त छोड़ दिया जा रहा है।

शहर ने डेंगू के मरीज माह भर पहले से ही मिलने लगे हैं। इसमें महापौर जानकी काटजू का वार्ड भी शामिल है। इसी प्रकार डेंगू के लिए संवेदनशील संजय मार्केट के आसपास के आवासीय क्षेत्र में भी डेंगू के मरीज मिले हैं। इसे देखते हुए नगर निगम प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर स्वच्छता पखवाड़ा के तहत घर-घर महिला समूहों में माध्यम से दस्तक दिया है। इससे कापᆬी हद तक लोगों में जागरूकता आई है।

दूसरी ओर नियमित सापᆬ- सपᆬाई नहीं होने से पंजरी प्लांट बस्ती के लोगों में नाराजगी है, उन्हें भय है कि डेंगू यहां भी दस्तक न दे दे।

डेंगू मरीजो की संख्या पर एक नजर

वर्ष केस

2017 - 55

2018 -129

2019 -269

2020- कोरोना काल में जांच नहीं

2021 -16

वर्जन

वर्तमान में कुल 16 मरीजों की पहचान हुई है। डेंगू-मलेरिया से बचाव के लिए नगर निगम के साथ मिलकर जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, लोगों को अपने आसपास- पानी जमा नहीं होने देने और सापᆬ-सपᆬाई रखने की समझाइश दी जा रही है।

- डा सीजी कुलवेदी, नोडल अधिकारी मलेरिया एवं डेंगू नियंत्रण, रायगढ़।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local