रायगढ़। घर के अंदर लहूलुहान संदिग्ध अवस्था मे लाश मिलने की सनसनीखेज हत्याकांड की गुत्थी को धरमजयगढ़ पुलिस ने सुलझाने में कामयाबी हासिल की है। अंधे कत्ल की गुत्थी में शामिल आरोपित मृतिका महिला के सगे देवर ने जादू टोना के शक व भाभी के ताना कसने से व्यथित होकर बदला लेने के इरादे से गला घोंटकर हत्या कर दिया था। जिसे गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में जेल भेजा गया है।

3 अप्रैल को मृतिका चंद्रवती राठिया की हत्या की घटित वारदात के बाद अज्ञात आरोपी की पतासाजी, विवेचना में थाना प्रभारी धरमजयगढ़ निरीक्षक अंजना केरकेट्टा व उप निरीक्षक प्रवीण मिंज द्वारा मृतिका के वारिशानों, रिस्तेदार, मृतिका के घर आसपास तथा गांव के प्रमुख लोगों से एक-एक कर पूछताछ करने पर मृतिका के देवर छत्तर सिंह राठिया के साथ झगड़ा विवाद, मनमुटाव की होने की जानकारी निकलकर आई जिस पर छत्तर सिंह को संदेह में रखकर कड़ी पूछताछ किया गया जिसने चन्द्रवती राठिया को मारपीट कर रस्सी व गमछा से गला दबाकर हत्या का स्वीकार किया ।

आरोपी छत्तर सिंह पिता पंचराम राठिया उम्र 39 वर्ष निवासी साजापाली थाना धरमजयगढ़ के निशानदेही पर उसने बताया कि 3-4 साल पहले पैर में दुर्बलता थी, गांव में वैध के जड़ी-बुटी से ईलाज कराया तो ठीक हो गया, वैध बताया था कि किसी ने पैर में जादू-टोना किया होगा । बीच में मां और बेटी का भी तबियत खराब हो रहा था तो भाभी चन्द्रवती राठिया पर शक होता था, भाभी चन्द्रवती ताना मारती थी कि इतना पूजा पाठ कर रहे हो बधो नहीं हो रहे हैं, तानों के कारण भाभी चन्द्रवती से रंजिश रखता था।

2 अप्रेल को सुबह भाभी महुआ बिनकर घर आई उस समय घर में कोई हीं था, भाभी को बोला कि तुम लोग पूजा-पाठ ठीक से नहीं कर रहे हो , सब बीमार पड; रहे हैं। तब भाभी बोली कि तुम लोग तो खूब पूजा पाठ करते हो तो तुम्हारा बधाा क्यों नहीं हो रहा है तो भाभी के ताना से गुस्से में आकर भाभी को हाथ मु-ा, लात से मारपीट किया, भाभी के जमीन पर गिर जाने से गमछा गर्दन में फंसाकर घसीटते हुए उसके कमरे में ले गया और रस्सी गर्दन में फंसाकर खींचकर मार दिया । आरोपी के

कबूलनामा पर रस्सी व गमछा जब्त किया गया है । आरोपी को हत्या के अपराध में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया । प्रकरण का खुलासा करने में निरीक्षक अंजना केरकेट्टा, उप निरीक्षक प्रवीण मिंज, प्रधान आरक्षक श्यामलाल पैंकरा, लक्ष्मी कैवर्त, आरक्षक पुष्पेंद्र सिदार, धनेश्वर उरांव, विकास तिर्की, अर्जुन ए-ा, राजेन्द्र राठिया की सराहनीय भूमिका रही है।

यह है मामला

धरमजयगढ़ के ग्राम साजापाली में रहने वाला चन्द्रसाय राठिया पिता पंचराम राठिया उम्र 48 वर्ष द्वारा 3 थाना धरमजयगढ़ में उसकी पत्नी चन्द्रवती राठिया की घर अंदर मृत अवस्था में पड़े होने की सूचना दिया । घटना के संबंध में मृतिका का पति बताया कि 2 अप्रैल प्रातः घर के सभी लोग महुआ बीनने चले गये थे । उसकी पत्नि चंन्द्रावती राठिया (मृतिका) भी डोंगाघाट महुआ बीनने गयी थी जो महुआ लेकर सुबह करीब 10.30 बजे घर आयी ।

दोपहर करीब 03 बजे छोटा भाई खेत आकर बताया कि चन्द्रावती के घर में गिरी पड़ी है, तब घर जाकर देखा । चन्द्रावती के चेहरे में सिर, कपाल तरफ चोट व खुन निकला हुआ दिखा, फौत हो चुकी थी । घटना के संबंध में शव का शार्ट पीएम रिपोर्ट प्राप्त किया गया, पीएम रिपोर्ट पर मृतिका की मृत्यु होमोशायडल नेचर लेख किये जाने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्घ धारा 302 ताहि कायम कर विवेचना में लिया गया था। इसी कड़ी में हत्यारे देवर को गिरफ्तार किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags