रायगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत प्रदेश के किसानों को खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के लिए प्रथम किश्त की राशि का अंतरण किया। इसके साथ ही राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना एवं गोधन न्याय योजना के लाभांवित हितग्राहियों को भी राशि का अंतरण किया। इस अवसर पर नगर निगम आडिटोरियम में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में उधा शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, विधायक प्रकाश नायक, लालजीत सिंह राठिया, चक्रधर सिंह सिदार, जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल, महापौर जानकी काटजू, कलेक्टर भीम सिंह, सीईओ जिला पंचायत डा रवि मित्तल सहित जिले भर से आये जनप्रतिनिधि व किसान उपस्थित रहे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उधा शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि शासन कृषकों को उनकी फसलों की बेहतर कीमत प्रदान करने की दिशा में निरंतर कार्यरत है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से धान के साथ दूसरी फसलों को भी आदान सहायता के लिए शामिल किया है। जिससे किसानों को दूसरे प्रदेशों के मुकाबले फसलों की बेहतर कीमतें मिल रही है और वे आर्थिक रूप से सशक्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ ही शासन भूमिहीन कृषि मजदूरों की बेहतरी के लिए भी कार्य कर रही है। उन्हें भी राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर योजना के जरिये आर्थिक सहायता दी जा रही है। इस मामले में रायगढ़ प्रदेश में अव्वल चल रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना अपने किस्म की अनूठी पहल है। जिसका सीधा लाभ पशुपालकों को मिल रहा है साथ ही इससे जैविक कृषि और महिला रोजगार को बढ़ावा भी मिल रहा है।

विधायक प्रकाश नायक ने कहा कि शासन छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक विरासत और परंपराओं को सहेजने और संवारने के साथ किसानों, श्रमिकों, महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का काम कर रही है। विधायक लालजीत सिंह राठिया ने कहा कि शासन की नीतियों और योजनाओं से ग्रामीण जनजीवन और रोजगार में काफी सकारात्मक असर पड़ा है। कृषि कार्यों को नयी ऊर्जा मिली है। स्थानीय स्तर पर रोजगार के नए विकल्प तैयार हुए हैं। विधायक चक्रधर सिंह सिदार ने इस मौके पर कहा कि शासन की योजनाओं से आज किसान बड़ी संख्या में लाभान्वित हो रहे हैं। इसमें धान की खेती के साथ ही दूसरी फसल लेने वाले किसान भी शामिल हैं। जो दिखलाता है कि इस राज्य में आजीविका की मुख्य गतिविधि की मजबूती के लिए सरकार कितनी गंभीरता से कार्य कर रही है। इस मौके पर कलेक्टर श्री भीम सिंह ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि शासन राजीव गांधी किसान न्याय योजना से जहां किसानों को आदान सहायता प्रदान कर रही है वहीं गोधन न्याय योजना से जैविक खेती को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि मृदा की उर्वरता और फसलों की गुणवत्ता के लिए फसल चक्रण को अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अब दलहन-तिलहन की खेती के लिए बीज किसान सोसायटियों से प्राप्त कर सकते हैं।

इस अवसर पर खेती के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 10 किसानों को शाल श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। एक लाख 8 हजार 106 किसानों को पहली किस्त में मिले 97 करोड़ वर्ष 2021-22 की पहली किश्त में कुल 01 लाख 8 हजार 106 किसानों को प्रथम 97 करोड़ 02 लाख अंतरित किया गया। पिछले 2 सालों में जिले के किसानों को मिले 643 करोड़ रुपये राजीव गांधी किसान न्याय योजना अंतर्गत योजना के प्रारंभिक वर्ष 2019-20 में 90 हजार 385 किसानों को चार किस्तों में कुल 323 करोड़ छह लाख रूपए प्रदाय किया गया। धान उपार्जन वर्ष 2020-21 में कुल 01 लाख 01 हजार 72 किसानों को योजना अंतर्गत 320 करोड; 13 लाख रूपए चार किस्तों में प्रदाय किया गया। इस प्रकार किसानों को पिछले दो सालों में 6 अरब 43 करोड; रुपये की राशि इस योजना के माध्यम से प्रदान की गयी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close