रायगढ़/लैलूंगा/कोतबा । वृद्ध दंपति की धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या की घटना से सनसनी फैल गई। घटना के पीछे वृद्ध दंपति द्वारा घर में रखे हुए नगद राशि की लूट को कारण माना जा रहा है। घटना रायगढ़ जिले के लैलूंगा थाना क्षेत्र के ग्राम कूपाकानी की है। यह गांव जशपुर जिले की सीमा से लगा हुआ है। कूपाकानी और जशपुर जिले के सुरंगपानी गांव के बीच महज सात किलोमीटर की दूरी है।

इस अंतराल में एक ही रात में दोहरे हत्या और एक हत्या का प्रयास व लूट की वारदात हो जाने से समूचे क्षेत्र में दहशत व्याप्त है। दोहरे हत्याकांड की सूचना पर रायगढ़ जिले के एसपी सहित पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

डॉग स्क्वायड की सहायता से पुलिस अधिकारी हत्यारे तक पहुंचने की कोशिश में जुटे हुए है। स्नीफर डॉग घटनास्थल से सूंघकर गांव में स्थित दो घरों में घुसा। इस सुराग के आधार पर पुलिस मामले की जांच को आगे बढ़ाते हुए सुराग जुटाने के लिए मशक्कत कर रहे हैं।

ग्राम कूपाकानी निवासी मुनकुराम यादव (80) अपनी पत्नी रुकमणी यादव (75) के साथ अपने पैतृक खेती जमीन के पास घर बनाकर लगभग 20 वर्षो से रहा था। यहां वह कृषि कार्य के साथ मवेशियों की भी देख रेख किया करता था। मृतक के बड़े बेटे अर्जुन यादव व छोटा बेटा काशी यादव ने बताया कि खेती कार्य को बेहतर बनाने और विस्तार सहित देख रेख के लिए यहां 20 वर्ष पूर्व झोपड़ी बनाया गया था लेकिन बरसात के दिनों में परेशानी होने के कारण यहां कच्चे मकान का निर्माण किया गया था।

उन्होंने बताया कि मृतक माता पिता के साथ सहपरिवार मिलजुलकर खेती किसानी करते आ रहे हैं। जिसके लिए वहां कुंआ निर्माण के साथ सौर ऊर्जा प्लेट लगाकर बारह माह साग सब्जी सहित अन्य खेती किया जाता है जिसकी संपूर्ण देखभाल उनके वृद्ध माता पिता करते थे। उनके मुताबिक 80 वर्ष के होने के बाद भी वे दोनों स्वस्थ थे और दिन भर खेती और मवेशियों की सेवा करते थे।

आज सुबह भैंस को देखने के लिए पीतांबर नामक युवक जब वहां पहुंचा तो उसने वृद्ध दंपत्ति की लाश देखकर हैरान रह गया उसके बाद परिजनों को सूचना दी गई। परिजनों ने लैलूंगा पुलिस को मामले की सूचना दी,मृतक के परिजनों के मुताबिक उनका किसी से कोई प्रकार का रंजिश नही है और कोई जमीन विवाद भी नही हैं उनके माता और पिता मिलनसार व्यक्ति थे और आसपास के लोगों के बीच दूध सब्जी बेचने जाया करते थे।

डॉग स्वाक्यड टीम को मिले अहम सुराग

घटना को जांच करने पहुंचे डॉग स्क्वायड टीम रायगढ़ की टीम को कुछ सुराग मिले हैं। घटना स्थल से स्नीफर डॉग कुछ लोगों के घरों तक पहुंच गया। स्नीफर डॉग दिए गए इस सुराग के बूते ही इस लोमहर्षक दोहरने हत्याकांड के जांच की कड़ी आगे बढ़ेगी। फिलहाल पुलिस के आला अधिकारी मौके पर मृतकों के परिजनों के साथ ग्रामीणों का बयान दर्ज करने में जुटे हुए हैं।

धारदार हथियारों का किया प्रयोग

वारदात में हमलावरों ने धारदार हथियार का उपयोग किया जाना प्रतीत हो रहा है क्योंकि जिस तरह से दोनों वृद्ध दंपति के गले को रेता गया हैं उसमें दोनों के गले के आधे हिस्से कट गये है,और खून से लथपथ लाश सने पड़े रहे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार लाश को देखकर ऐसा लग रहा था कि घटना देर रात घटित हुआ हैं।

लोगों के मुताबिक गांव से एक किलोमीटर दूर एक ही घर होने के बावजूद आज तक कोई घटना घटित नही हुआ था रात को दोनों दंपति खाना खाकर बाहर पति और भीतर पत्नी सो रही थी। आशंका जताई जा रही है कि अपराधी पैसे लूट के लिए घर में घुसे थे और वृद्ध दंपती ने आरोपियों को पहचान लिया इसलिए उनको मौत के घाट उतार दिया गया।

- मामले की तस्दीक चल रही है कुछ संदेहियों से पूछताछ किया जा रहा हैं अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना जारी है,पंचनामा बनाकर पीएम के लिए शव परिजनों को सौप दिया गया है। - किरण गुप्ता टीआई लैलूंगा

Posted By: Nai Dunia News Network