रायगढ़। जिले में पूर्व व वर्तमान के 156 पंच सरपंच डिफाल्टर हो गए हैं। वित्तीय अनियमितता के बाद शासन को गबन की राशि जमा नहीं करने पर कलेक्टर ने इनके निर्वाचन पर रोक लगा दी है और अब इस बार पंचायत चुनाव में यह नेता चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। जिले में ग्राम पंचायतों में विविध तरीके निर्माण कार्य एवं 13वें तथा 14 वें वित्त आयोग की राशि में बंदरबाट करने वाले पंच सरपंच से वसूली नहीं हो पा रही है। पंचायतों में आर्थिक अनियमितता के बाद संबंधित पंच सरपंचों से राशि वसूली जानी थी लेकिन जिले में एसडीएम की दंडात्मक कार्रवाई के बाद भी 156 पंच सरपंच गबन की राशि जमा नहीं कर रहे हैं।

बार बार के नोटिस एवं कार्रवाई के बाद भी राशि जमा नहीं करने वाले इन 156 नेताओं पर करीब 85 लाख रूपये का बकाया हो गया है लेकिन यह राशि जमा नहीं हो पा रही है। हालाकि इसमें से कुछ पंच सरपंच की मौत भी हो चुकी है तो कुछ आपराधिक प्रकरणों के कारण जेल में बंद है।

इसी तरह कुछ पंच सरपंच ऐसे भी हैं, जिनसे आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हो पाने के कारण रिकवरी हो पाना भी मुमकिन नहीं हैं। ऐसे में पंचायती राज अधिनियम के तहत कलेक्टर यशवंत कुमार ने इन 156 नेताओं को चुनाव लड़ने से वंचित कर दिया है और शासन का कर्जदार मानकर इनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी है।

रायगढ़ एवं सांरगढ़ में सबसे ज्यादा डिफाल्टर

तहसील, पंच सरपंच की संख्या,गबन की राशि

रायगढ़ , 33, 1295973

पुसौर,26 ,945237

सारंगढ़, 36 ,2485269

बरमकेला, 7 ,602764

खरसिया,5 ,522922

घरघोड़ा,22 ,771329

तमनार, 1 , 13274

लैलूंगा , 16 ,1346401

धरमजयगढ़ , 10 , 570919

--------------------

कुल - 156 , 8554158

Posted By: Nai Dunia News Network