रायगढ़, नईदुनिया प्रतिनिधि। जंगल से भटक कर गांव के करीब तक पहुंचे चीतल पर कुत्तों ने हमला कर दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने उसकी जान बचाने की कोशिश करते हुए मामले की जानकारी वन अमला को दी, लेकिन कुछ ही देर में चीतल की मौत हो गई। जहां पीएम के बाद उसका अंतिम संस्कार कराया गया।

इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक रायगढ़ वन परिक्षेत्र के लामीदरहा क्षेत्र के जंगल से भटकते हुए एक चीतल गांव के करीब तक पहुंच गया लेकिन तभी कुत्तों के एक झुंड ने उसे दौड़ाना शुरू कर दिया और उसके पीछे पैर की तरफ हमला कर दिया।

जब आसपास के ग्रामीणों ने उसे देखा तो तत्काल कुत्तो को भगा कर चीतल को सुरक्षित रखने का प्रयास करते हुए मामले की जानकारी वन अमले को दी। जहां डिप्टी रेंजर राजेश्वर मिश्रा ने मामले की सूचना अपने उच्चाधिकारियों को देते हुए बिना समय गंवाए अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे लेकिन तब तक चीतल की मौत हो चुकी थी। इसके बाद मृत चीतल को इंद्राविहार लाया गया। जहां प्रारंभिक जांच में कुत्तो के हमले से चीतल की मौत की पुष्टि हुई। इसके बाद पीएम कराकर उसका अंतिम संस्कार किया गया।

कुत्ते बने रहे जान माल के लिए खतरा

आवारा कुत्ते पिछले लंबे समय से लोगो को वन्यप्राणियो के लिए समस्या बन हुए हैं। इनकी संख्या अधिक होने के कारण अक्सर वे जंगल से भटक कर गांव के करीब तक पहुंचे वन्यप्राणियो पर वे हमला कर देते हैं। इससे पहले भी कुत्तों के हमले से चीतल की मौत का कई मामला सामने आ चुका है। इसके अलावा आये दिन लोगों पर भी हमला कर रहे है।

Posted By: Nai Dunia News Network