रायगढ़(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संकट के चलते एक ओर लोग घर में दुबके हैं। वहीं सफाई के लिए निकलने वाली महिला सफाई कर्मचारियों को आवागमन की समस्या से जूझना पड़ रहा है। निगम के विभिन्न क्षेत्रों में सपᆬाई के लिए स्वच्छता मित्रों को उनके स्थान पर सुबह छोड़ दिया जाता है। घर वापसी के लिए सुविधा नहीं होने के कारण उन्हें रोज 5 से 6 किमी पैदल चलना पड़ रहा है।

निगम प्रशासन की ओर से स्वच्छता कर्मचारियों के साथ सहयोग नहीं किया जा रहा है। कर्मचारियों को सुबह के समय अलग-अलग क्षेत्रों में सफाई के लिए छोड़ दिया जाता है, लेकिन सफाई काम पूरा होने के बाद उनके घर वापसी के लिए वाहन नहीं भेजा जाता। इस आशय की जानकारी देते हुए महिला स्वच्छकों ने बताया कि उन्हें सफाई कार्य के लिए वार्डो में छोड़ा गया था, लेकिन वापस लेने के लिए निगम ने वाहन नहीं भेजा। महिलाओं ने बताया कि यह एक दिन की समस्या नहीं बल्कि पिछले चार दिन से हो रही है। कोरोना वायरस के चलते अटो और अन्य सवारी वाहने बंद कर दी गई है। ऐसे मे निगम की ओर वाहन की सुविधा नहीं उपलब्ध कराए जाने के कारण महिला स्वछकों को उनके घर तक पहुंचने में असुविधा हो रही है। पुरूषों के बजाय महिला स्वच्छकों को उनके गृह निवास से दूरदराज के क्षेत्रों में काम लगाया जाता है। घर वापसी के लिए सुविधा नहीं होने से उन्हें प्रतिदिन 5 से 6 किलोमीटर पैदल चल कर घर वापस आना पड़ता है। सपघई की व्यवस्था में जुड़े लोगों ने बताया कि व्यवस्था ऐसी ही रही तो काम बंद हो सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket