रायगढ़ । दो दिन पहले घर के आंगन में महिला की जमीदोंज लाश प्रकरण में फरार पति ने उसे गैर मर्द के साथ देखे जाने पर पटक-पटककर जान ले लिया था। सनसनीखेज वारदात का पर्दाफाश तब हुआ जब मोबाईल लोकेशन ट्रेस कर झारखंड भागने के फिराक रहे आरोपित को कुनकुरी से हिरासत में लाकर पूछताछ किया गया तो हत्याकांड के सभी रहस्यों से पर्दा उठ गया। जिसे हत्या के आरोप में मृतिका की बड़ी बहन की रिपोर्ट पर गिरफ्तार कर रिमांड में जेल भेजा गया है।

कांति बाई यादव पति अजय यादव 37 वर्ष निवासी मांझापारा बड़े अतरमुड़ा थाना चक्रधरनगर के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराया गया। जहां मृतिका की बड़ी बहन ने पुलिस को बताया कि कांति ने घर से अपने पहले पति से झगड़ा लड़ाई कर रायगढ़ आकर अजय उर्फ खगेश्वर के साथ रहने लगी थी। वही पिछले माह के अंतिम दिन से मृतिका कांति के बेटे बेटी लगातार उससे संपर्क करने का प्रयास कर रहे थे। लेकिन बातचीत नहीं हो पा रहा था और उसके पति ने भी रायपुर में रहना बताकर पल्ला झाड़ रहा था। ऐसे में फिक्रमंद बच्चे व परिजन को कई तरह की आशंका होने लगीं। वही रिपोर्टकर्ता ने पुलिस को बताया कि कांति के घर का एक चाबी उसके पास था । 16 सितंबर को रायगढ़ आई और कांति के घर गई तो ताला लगा था तो वह रिस्तेदार के घर चली गई थी । दो दिन बाद यानी 18 सितंबर को कांति के घर जाकर देखाा तो पाया कि घर की बाड़ी में मिट्टी के बाहर एक महिला के पैर की उंगली एवं खोपड़ी दिखाई दे रहा है । सूचना पर तत्काल सीएसपी दीपक मिश्रा, थाना प्रभारी चक्रधरनगर निरीक्षक शनिप रात्रे अपने स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे । ततपश्चात शव का विधिवत कार्यपालिक दण्डाधिकारी की उपस्थिति में उत्खनन कराया गया । शव की पहचान डिलेश्वरी यादव द्वारा उसकी बहन कांति यादव के रूप में की । प्रथम दृष्टिया मृतिका की हत्या कर शव को गड्ढे में दफन उसके पति खगेश्वर उर्फ अजय यादव के द्वारा किये जाने का संदेह होने पर संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव के विरूद्ध धारा 302, 201 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।

सीएसपी दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन पर थाना चक्रधरनगर एवं लैलूंगा की संयुक्त टीम संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव के लुकने छिपने के स्थान लैलूंगा, जशपुर पर दबिश दिया गया, इसी दरम्यान संदेही के ग्राम लोटापानी में छिपे होने की सूचना पर रायगढ़ पुलिस टीम द्वारा सुनियोजित तरीके से थाना कुनकुरी स्टाफ के सहयोग से ग्राम लोटापानी में दबिश देकर संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव को हिरासत में लेकर थाना लाया गया । संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव द्वारा उसकी पत्नी कांति की हत्या कर शव को दफन कर भाग जाना कबूल कर घटना का वृतांत बताया । जिसके कब्जे से पुलिस ने रापा जब्त कर जेल भेजा है।

आरोपित ने पूछताछ में बताया कि वह लगातार अपनी पत्नी से कहने लगा था कि बाहरी व्यक्ति से मिलना-जुलना व बातचीत बंद कर दे। परंतु कांति लगातार नजरअंदाज कर रही थी।इसी बीच वह घटना के तीन दिन पहले अकेले अपने गांव लोटापानी, कुनकुरी गया जहां से लौटा तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था । दीवार फांद कर अंदर जाकर देखा तो कांति किसी दूसरे व्यक्ति के साथ थी, गुस्से में कांति को थप्पड़ मारा, उसके साथ वाला व्यक्ति वहां से भाग गया। ततपश्चात बेतहाशा पिटाई से वह बेहोश होकर गिर गई। और कुछ घण्टों में मृत भी हो गई।

घूमता रहा जैसे कुछ हुआ ही नहीं

हत्या के बाद आरोपित ने यह भी पुलिस को बताया कि मारपीट के बाद जब वह बेहोश हो गई तो उसे उसी अवस्था मे छोड़कर भाग गया। और बस स्टैंड के साथ साथ अन्य स्थानों मे घूमता रहा मानो कुछ हुआ ही नही, ततपश्चात दूसरे दिन सुबह घर आकर देखा तो कांति मरी पड;ी थी, डर से पुन: घर का दरवाजा बाहर से बंद कर बस स्टैंड और कई जगह बाहर-बाहर घूमता रहा । 3 दिन बाद वापस घर जाकर रात के समय कांति के शव को बाड़ी में रापा से गड्ढा खोदकर लाश को दफन कर राता को मकान में छिपा कर कपड;े बदल कर फिर से गांव लोटापानी भाग गया ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close