रायगढ़। जिले में धीरे धीरे कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है जिसमें होली से पहले दो दिन में मात्र 25 मरीज सामने आए थे इसके बाद 1 अप्रैल के बाद कोरोना ने रफ्तार पकड़ते हुए 4 दिन में दो बाद शतक जड़ते हुए 381 लोगो को संक्रमित किया है। इसी संक्रमण की रफ्तार को रोकने के लिए जिला प्रशासन स्वास्थ्य महकमा कोरोना टीकाकरण को युद्ध स्तर में करने लगा है।

जिसमें 4 अप्रेल तक 175873 लोगो को पहला दूसरा डोज लगाया जा चुका है। आलम यह है कि अधिक से अधिक लोगो को कोरोना से बचाने जीवनदायिनी कोविशिल्ड वैक्सीन लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग जिला प्रशासन पात्रता वाले लोगो को टीकाकरण करने अपील कर रहा है। जिसका असर यह है कि जीवन रक्षक कोविशिल्ड टीका लगाने लोग स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाये गए 218 केंद्र में उत्साह के साथ उमड़ रहे है। और टीकाकरण को एक उत्सव का रूप दे रहे है।

जिसका नतीजा यह है कि टीका खत्म होने के बाद भी स्वास्थ्य अमला माकूल व्यवस्था बनाने के लिए जिन केंद्रों में अतिरिक्त डोज था उसे भी रविवार को मंगवा कर लोगो को लगवाए थे। फिलहाल टीकाकरण एक उत्सव के रूप में चल रहा है जिसमें लोग कोरोना से बचने स्वस्थ समाज स्वस्थ रईगढ का नारा दे रहे है।

रंग पर्व के बाद संक्रमण दर में आई तेजी

जिले में होली से पहले कभी 7 तो कभी 10 मरीज मिल रहे थे लेकिन होली पर्व के बाद कोरोना ने संक्रमण की रफ्तार को बढ़ाते हुए शतक लगा चुका है जिसमें 4 दिन में कोरोना ने दोहरा शतक लगाया है। इस तरह देखा जाए तो 28 मार्च को 18, 29 मार्च को 07 मरीज थे इसके बाद कोरोना में टाप गेयर में संक्रमण गाड़ी का पहिया घुमाते हुए 30 मार्च को 69, व 31 मार्च को 63, ततपश्चात 1 अप्रैल को 76 , 2 अप्रैल को 103 , 3 मार्च को 84 व 4 अप्रैल को 118 लोगो को अपने चपेट में लिया। जिसमें अधिकांश मरीज ग्रामीण अंचल से नजर आ रहे है।

वंचित न हो कोई अतिरिक्त व्यवस्था में ला रहे है डोज

जिले में टीकाकरण के लिए लोग शासन प्रशासन के दिशा निर्देशअपील के बाद पूरी उत्साह के साथ टीकाकरण के लिए नजदीकी सेंटर आरहा है आलम यह है कि रविवार को टीका खत्म होने से पहले स्वास्थ्य महकमा ने खरसिया सेंटर में मौजुद अतिरिक्त डोज को वापस रायगढ़ शहर मंगवाया गया था क्योंकि शहरी क्षेत्र में कोरोना से बचने अत्यधिक लोग सेंटर में आ रहे है जिन्हें बैरंग लौटना न पड़े इसका भी पूरा इंतजाम किया जा रहा है। फिलहाल टीका लाने वाली वाहन रायपुर टीका लेने रवाना हो चुकी है जो देर रात तक वैक्सीन की नई खेप लेकर आएगी।

स्वास्थ्य कर्मियों का उत्साह बना रहा है टीकाकरण को उत्सव

जिले में कोविड वैक्सीन लगवाने को लेकर पात्र लोगों में गजब का उत्साह और आत्मविश्वास है। टीकाकरण के मामले में जिला पूरे प्रदेश में तीसरे-चौथे पायदान पर है। कलेक्टर भीम सिंह, सीएमएचओ ड। एसएन केसरी, जिला टीकाकरण अधिकारी ड। भानू पटेल व स्वास्थ्य विभाग की मेहनत रंग ला रही है। टीकाकरण केंद्रो में लोगों की उमड़ती भीड़ इसकी सफलता की कहानी बता रही है। इन टीकाकरण केंद्रों में टीका लगाने की जिम्मेदारी नसोर् पर हैं इन नसोर् ने बीते 14 महीने से कोविड काल में अथक परिश्रम किया है और लगातार अपनी सेवाएं दे रही हैं। इनमें से ज्यादातार कोविड पजिटिव हुईं फिर भी वर्क फ्राम होम जारी रखा। टीका लगने से पहले और उसके बाद इन्हें कैसा लगा इस पर कुछ नसोर् ने अपना अनुभव साझा किया।

पहला टीका नर्स मेनका ने लगाई थी सोनू बंधन को

16 जनवरी 2021 को जिले का पहला टीका सोनू बंधन को लगाने वाली 30 साल की नर्स मेनका चौहान बताती हैं वह दिन एक इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया। 22 साल की उम्र में नसिर्ग पेशे में आने के बाद यह पहला मौका था जब गर्व की अनूभूति हुई। एक साल से हमें इस दिन का इंतजार था। बीते साल जनवरी से ही हमारी कोविड ड्यूटी लगी थी, शुरुआत में जब मरीज नहीं थे तो स्क्रीनिगं, होम आइसोलेशन जैसी जिम्मेदारियां थी फिर जैसे-जैसे केसेस बढ़े हमारे काम का दायरा बढ़ा, टेस्टिंग, मेडिसीन देना और निगरानी जो भी जिम्मेदारी मिली उसी बखूबी निभाती रही।

फैक्ट फाइल

जिले में 218 वैक्सीनेशन सेंटर

45 से 60 साल के सरकारी कर्मियों को 75380 प्रथम डोज

45 से 60 वर्ष के सरकारी कर्मियों 701 को लगा दूसरा डोज

60 से अधिक उम्र के लोगो 94346 को प्रथम डोज

60 से अधिक उम्र के लोगो को दूसरा डोज 70

45 से 60 वर्ष के 1163 आमजन को लगा प्रथम डोज

45 से 60 वर्ष के 106 आमजन को लगा दूसरा डोज

60 वर्ष से अधिक 1388 आमजन को लगा प्रथम डोज

60 वर्ष से अधिक 109 आमजनों को लगा दूसरा डोज

जिले में कुल सक्रीय केस 592

कोई खतरा नही बल्कि कोरोना के खतरे से बचाएगा

मैंने कोरोना को हराने के लिए वैक्सीन की पहली खुराक लगवा ली है, कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण के इस मुहिम में शामिल हो कर स्वयं और दूसरों को कोरोना से बचाव में मदद करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। इस तरह से हम भी राष्ट्र के प्रति अपना छोटा सा योगदान दे सकते है। वैक्सीन को लेकर जितनी भी भ्रांतियां है वह निराधार है यह सुरक्षित है। लोगो के मन मे कई तरह की संकोच है मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि यह टीका कोरोना के खतरे से उन्हें बचाएगा।

सुरेंद्र पांडेय, बीजेपी नेता

टीकाकरण राष्ट्रीय जिम्मेदारी निभाए अपना फर्ज

पारिवारिक ,सामाजिक और राष्ट्रीय जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए हमने कोविड 19 का वैक्सीन लगवाए है। वैक्सीन पूर्णतया सुरक्षित है। लोगो को भी अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए अपना योगदान देना चाहिए इसके साथ ही टीका लगवाने के बाद भी मास्क जरूरी है , बार बार हाथ धोना व फिजिकल डिस्टेंस जरूर मेंटेन भी करें और अनावश्यक घर से बाहर ना निकलें तभी हम सबका जीवन खुशहाल हो सकेगा। जान है तो जहान है आप स्वस्थ रहें सुरक्षित रहे।

मोहम्मद अशरफ खान, कांग्रेस नेता

टीका लगवाए लापरवाही नही बरते

कोरोना महामारी के संक्रमण से जीत हासिल करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को आगे बढ़कर टीका लगवाना चाहिए, तभी इस संकट से देश प्रदेश और रायगढ़ जिला उबर पाएगा मैं सभी वगोर् से अनुरोध करती हूं कि वह निसंकोच अपने नजदीकी कोविड-19 में जाए और -पया कर लगवाए यह उनके लिए उनके परिवार के लिए समाज के लिए बेहद जरूरी है। शहर में अभी भी कई लोग नियम का पालन नही कर रहे है वो गलत है।

किरण दुबे,

स्वस्थ समाज और स्वस्थ रायगढ़ बनाने टीका जरूरी

मैंने टीका लगवाया है इसमें किसी तरह का कोई खतरा नही है बल्कि यह जानलेवा कोरोना वायरस के खतरे से बचाएगा।प्रगतिशील समाज के लिए टीकाकरण बेहद जरूरी है उत्साह के साथ और टीकाकरण कराए । स्पेस जीवन को जोखिम में डालकर हमारे स्वास्थ्य कर्मी पुलिस व अन्य लोग जो कार्य कर रहे हैं उनके मन में हौसला बढ़ेगा और यह हमारा दायित्व है कि उनका हौसला हमें बरकरार रखना चाहिए। तभी स्वस्थ समाज और स्वस्थ रायगढ़ बनेगा।

पंचमती साहू

कोरोना को भगाना है नियम का पालन करना है

शासन द्वारा लोगों को खतरे से बचाने के लिए टीकाकरण अभियान चला रही है जिसमें हम सभी को अपनी नैतिक जिम्मेदारी निभाते कोरोना का टीका लगवाना चाहिए, मैंने टीका लगवाया हैं। वर्तमान में अभी भी शहर में दुकानदार व्यवसाई आम जनता कर के प्रति लापरवाह है उन्हें राजधानी के साथ अन्य जिलों का हाल देखना चाहिए जहां कोरोना का दूसरी लहर चल रहा है पूर्णा को दूर भगाने के लिए नियमों का पालन करना बहुत जरूरी है।

हेमलाल श्रीवास,

लापरवाही ले सकती है जान करे दिशा निर्देश का पालन - नर्स मेनका

नर्स मेनका कहती हैं कि कोविड का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है लोगों को इससे डरने की जरूरत नहीं है। शुरुआत में इसके बारे में कुछ नकारात्मक अफवाहें फैलाईं गई थी अब लोग धीरे-धीरे समझ रहे हैं और टीकाकरण केंद्रों में भीड़ आना शुरू हो गई है। जिन लोगों ने टीका लगा लिया है वह यह नहीं समझे की उन्हें कोरोना नहीं होगा और वो कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करते, मास्क नहीं लगाते। टीका सिर्फ आपकी इम्यूनिटी बढ़ाता है, आपको मास्क लगाना है और दो गज दूरी का भी पालन करना है। आपकी सुरक्षा आपके हाथ में, जरा सी भी लापहवाही जानलेवा हो सकती है।

नर्स मेनका

परिश्रम में बिता साल नही हुआ आत्मविश्वास कम - पुष्पा

नसिर्ग सुपरवाइजर पुष्पा बताई की 28 साल से नसिर्ग पेशे में पहली बार इस प्रकार की कोरोना जैसी विकट चुनौतियों से सामना होना बताई। कोरोना काल में घर-घर जाकर सैंपल, दवाई देना, सील करना, ट्रेसिंग जैसी सभी जिम्मेदारियो निभाई इस दौरान कोविड पाजीटिव भी आई, इससे फील्ड से बस 17 दिन दूर रहना पड़ा लेकिन आन काल पर इस दौरान भी मौजूद रहीं। अथक काम और परिश्रम में पूरा साल बीत गया। वैक्सीन आने के बाद उसे लगवाने की मनिटरिंग भी करना है लेकिन जब मेरी बारी आई तो संतुष्टि हुई कि खतरा थोड़ा सा कम हुआ पर कम नहीं हुआ। टीके को लेकर कई कयास रहा पर यह आत्मविश्वास ला दिया।

टीका का कर रहे थे परिजन विरोध समझाने पर शंका हुई दूर - नर्स रेखा

संत माइकेल स्कूल स्थित टीकाकरण केंद्र में ड्यूटी कर रही जिले की वरिष्ठतम नर्स (30 साल का अनुभव) रेखा सेनगुप्ता बताती हैं कि वैक्सीन आने के बाद उसे लगाना मेरे लिए बड़ी चुनौती थी। घर के सभी लोगों ने वैक्सीन के परिणाम पर शंका जताते हुए टीका नहीं लगाने देने पर अड़े थे लेकिन उन्हें मनाने में काफी मशत करनी पड़ी। टीके का कोई भी विपरीत प्रभाव नहीं आया उल्टा टीका लगाने के बाद यह एहसास प्रबल हो गया। कोरोना काल में नर्स पुष्पा और मैं दोनों ने ही साथ-साथ काम किया। जब पुष्पा पजिटिव आईं तो एक समय लगा कि मैं अकेली हो गई हूं और इतने बड़े शहरी क्षेत्र में काम कैसे होगा तब आत्मविश्वास ही था कि एक सब ठीक हो जाएगा तब तक अपने हिस्से का काम करूं और अंततरू वह दिन 16 जनवरी के रूप में आया।

जिले में यह सच है कि संक्रमण बढ़ रहा है संक्रमण से बचने के लिए लोगो को नियमों का पालन शत प्रतिशत करना चाहिए। हमारे द्वारा टीकाकरण अभियान को भी तेज किया गया है। प्रतिदिन लक्ष्य से अधिक लोगो को टीका लगाया जा रहा है। मेरा अपील है कि स्वस्थ समाज व स्वस्थ रायगढ़ के लिए लोगो को हर हाल में मास्क व शारीरिक दूरी बनाए रखना चाहिए, किसी भी हाल में लापरवाही नही बरते यह लापरवाही अनहोनी ला सकता है। टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। अपनी बारी आने पर जरूर लगाए।

डा भानु पटेल, जिला टीकाकरण अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags