रायगढ़। शहर में सड़क निर्माण में अब वेस्टेज प्लास्टिक का उपयोग किया जाएगा। बीते दिनों राजधानी में हुई बैठक के बाद नगरीय प्रशासन विभाग ने निगम कमिश्नर को आदेश जारी किया है और सड़क निर्माण के दौरान एसओआर में भी इसका प्रावधान करने का फरमान दिया है।

कचरे से निकलने वाले वेस्टेज प्लास्टिक से पर्यावरण को होने वाले नुकसान के मद्देनजर अब रोड बनाने में इसका उपयोग किया जाएगा। भारतीय रोड कांग्रेस के दिशानिर्देश के अनुसार सड़क निर्माण के दौरान प्लास्टिक का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

एनजीटी के आदेश पर मुख्य सचिव ने मई महीने में नगरीय प्रशासन विभाग की बैठक ली थी और सभी निकायों से कचरे के निपटारे एवं इससे निकलने वाले वेस्टेज प्लास्टिक के संबंध में भी चर्चा की थी। अब नगरीय प्रशासन विभाग ने इसी वेस्टेज प्लास्टिक के निपटारे के लिए रोड बनाने में भी इसका उपयोग करने के निर्देश दिए हैं।

इसके लिए सड़क निर्माण केलिए एसओआर में भी इसका प्रावधान करने का जिक्र किया गया है। दरअसल शासन की मंशा है कि इंदौर माडल की तरह रोड निर्माण के दौरान यहां भी वेस्टेल प्लास्टिक का उपयोग रोड बनाने में उपयोग किया जाएगा। ताकि शहरों से गंदगी का भी निपटारा हो और नालियां व नाले भी जाम ना हो। हालाकि रोड निर्माण में प्लास्टिक का इस्तेमाल कैसे किया जाएगा। इसको लेकर किसी तरह की गाइडलाइन नहीं आई है।