धरमजयगढ़ (नईदुनिया न्यूज) । राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा छत्तीसगढ़ रायपुर द्वारा राज्य के सभी प्राथमिक, मिडिल, हाई तथा हायर सेकेंडरी स्कूलों एवं छात्रावासों के नए एकाउंट बैंक आᆬफ़ बड़ौदा में जीरो बैलेंस पर खुलवाने का निर्देश जारी किया गया है। सभी स्कूलों के खाते बैंक आफ बड़ौदा में खोलें जाने के निर्देश को लेकर विरोध के स्वर उठने लगे हैं।

धरमजयगढ़ ब्लाक में बैंक आफ बड़ौदा का ब्रांच नहीं होने के कारण इस निर्देश ने धरमजयगढ़ क्षेत्र के शिक्षकों की परेशानी बढ़ा दी है। भाजपा के पदाधिकारी भी इस निर्देश को 'तुगलकी' फरमान बताते हुए शासन की मंशा पर सवाल खड़े कर रहे हैं। ब्लाक में बैंक आफ बड़ौदा की शाखा नहीं है। ऐसे में शिक्षकों को पत्थलगांव और खरसिया स्थित शाखा तक पहुंचने के लिए लगभग 40 किमी का सफर तय करना पड़ेगा। इसके अलावा एक ही बैंक में खाते होने से भीड़ भी बढ़ेगी। इस संबंध में क्षेत्र के शिक्षकों ने बताया कि ब्लाक के सभी स्कूलों के बैंक खाता बैंक आफ बड़ौदा में खोलने के निर्देश दिए गए हैं। इसके तहत सभी विद्यालय के प्रधानपाठक बैंक आफ बड़ौदा में खाता खुलवाने पहुंच रहे हैं। इसके लिए शिक्षकों को लंबी दूरी तय कर पत्थलगांव और खरसिया जाना पड़ रहा है। इससे पूर्व सभी विद्यालयों के खाते धरमजयगढ़ भारतीय स्टेट बैंक में थे।

जहां बैंक आफ बड़ौदा का ब्रांच नहीं है। उन क्षेत्रों के शिक्षकों को खासी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ेगा। पहले सभी स्कूलों के खाते भारतीय स्टेट बैंक में खोले गए थे अब उन खातों को बंद कर बैंक आफ बड़ौदा में खाता खुलवाने के निर्देश से ऐसा लगता है कि छत्तीसगढ़ सरकार का एसबीआई से भरोसा उठ गया है या चुनिंदा लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए साजिश रची गई है।

-टीकाराम पटेल, भाजपा नेता।

शासन के निर्देशानुसार सभी शासकीय विद्यालयों का अकाउंट बैंक आफ बड़ौदा में खोला जा रहा है।

-एसआर सिदार, बीईओ, धरमजयगढ़

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local