रायगढ़। रेलवे स्टेशन रायगढ़ में रेलवे सुरक्षा बल के स्टाफ पेट्रोलिंग व जांच के दौरान स्टेशन पर एक किशोरी को सहमे हालत में देखे । सुरक्षाकर्मी संदेह के आधार पर किशोरी से पूछताछ की पर वह कुछ भी बता नहीं रही थी । उसी समय राजू सिंह नामक युवक ने आकर किशोरी को दिल्ली ले जाने की बात कही। आरपीएफ स्टाफ को व्यक्ति पर संदेह हुआ और वे किशोरी व युवक को रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट लेकर गए । डरी सहमी किशोरी को विश्वास में लेकर पूछताछ करने पर उसने अपने को जशपुर जिले होने की बात कही। उसने बताया कि उसके घरवालों को जानकारी नहीं है कि उसे राजू सिंह दिल्ली लेकर जा रहा है । आरपीएफ स्टाफ को राजू सिंह केवल इतना ही बता रहा था कि किशोरी को दिल्ली ले जा रहा है किस कारण से ले जा रहा है, यह बताने में वह टालमटोल करने लगा । रेलवे सुरक्षा बल के उपनिरीक्षक अखिल सिंह द्वारा मामला संदेहास्पद होने से थाना कोतवाली रायगढ़ में आवेदन दिया गया ।

थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक शनिप रात्रे द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में मामला लाया गया । वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन पर थाना प्रभारी कोतवाली द्वारा मानव तस्करी का अपराध दर्ज कर आरोपित राजू सिंह से पूछताछ की तो तब राजू सिंह बताया कि किशोरी को ग्राम लाखा निवासी सुशील वर्मा उर्फ करोड़पति के साथ मिलकर किशोरी के स्वजनों को को बिना बताए बहला-फुसलाकर बिक्री करने के उद्देश्य से दिल्ली लेकर जाने की बात कही।

थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक शनिप रात्रे के नेतृत्व में एसआई बीएस डहरिया व स्टाफ तत्काल आरोपित सुशील वर्मा उर्फ करोड़पति के ठिकानों पर दबिश देकर पूंजीपथरा क्षेत्र से हिरासत में लेकर थाना कोतवाली लाया गया । राजू सिंह एवं आरोपित सुशील वर्मा उर्फ करोड़पति द्वारा किशोरी को प्रलोभन तथा दबावपूर्वक ले जाना पाए जाने से आरोपियों को धारा 370 आईपीसी, मानव तस्करी के अपराध में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है तथा किशोरी के स्वजनों से संपर्क कर रायगढ़ बुलाया गया । किशोरी का महिला पुलिस अधिकारी से कथन कराया गया है, चाइल्ड लाइन से किशोरी का काउसिलिंग कराया जाएगा ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close