रायपुर। Raipur Coronavirus Update :कोरोना संकट से निपटने एक ओर जहां छत्तीसगढ़ सरकार ने एस्मा लगा रखा है। वहीं दूसरी ओर समय पर वेतन नहीं मिलने और सुरक्षा कीट का अभाव बताकर छत्तीसगढ़ के 15 जूनियर डॉक्टरों ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं दर्जनभर से अधिक जूनियर डाक्टर त्यागपत्र देने की तैयारी कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के 15 जूनियर डॉक्टरों के इस्तीफे की खबर ने सबको चौका दिया है। त्यागपत्र सौंपने वाले ये सभी जूनियर डॉक्टर दाऊ कल्याणसिंह सुपरस्पेशलिटी (डीकेएस) के हैं। इनके साथ ही मेडिकल कॉलेज के कई अन्य डॉक्टर्स के भी इस्तीफा देने की सुगबुगाहट है। इन्होंने इसकी वजह कोरोना वायरस से जंग में सुरक्षा किट का अभाव और लगन के साथ काम करने के बावजूद समय पर वेतन नहीं मिलने को बताया है।

जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए उनके लिए कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं की जा रही है। जान जोखिम में डालकर भी अपनी ड्यूटी बखूबी निभा रहे हैं। सीनियर डॉक्टर्स से इनका हौसला बढ़ता है। लेकिन कथित तौर पर वे भी अस्पताल में नहीं रहते हैं। केवल जूनियर डॉक्टरों से निरंतर सेवा ली जा रही है। इससे इनका सब्र जवाब दे गया है।

उन्होंने बताया है कि समय पर वेतन भी नहीं मिल पा रहा है। कोरोना काल के शुरुआत में ही सरकार ने आदेश निकाला था कि जितने भी इंटर्न डॉक्टर हैं, उनको जूनियर डॉक्टर बनाया जाए। इसी बेस पर ज्वाइन कराया, लेकिन अभी तक ज्वाइनिंग की स्थिति भी साफ़ नहीं हुई है। यही वजह है कि बुधवार को 15 जूनियर डॉक्टरों ने इस्तीफ दे दिया है। आज भी एक दर्जन से अधिक लोग इस्तीफा देने जाने की तैयारी में हैं।

इस मामले में डीकेएस के अधीक्षक विष्णु दत्त ने बताया कि बुधवार को जूनियर डॉक्टरों ने रिजाइन लेटर दिया है। अभी प्रदेश में एस्मा लगा हुआ है, इसलिए उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया जा सकता है।

Posted By: Anandram Sahu

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना