रायपुर। स्वामी विवेकानंद विमानतल में खड़ी बांग्लादेशी फ्लाइट पर तीन करोड़ की बकाया राशि हो गई है। इस संबंध में बांग्लादेशी कंपनी को पत्र लिखकर बताया भी जा चुका है। मगर, अभी तक कंपनी की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। बताया जा रहा है कि रायपुर विमानतल अथॉरिटी द्वारा इस संबंध में अब विधि विशेषज्ञों से सलाह ली जाएगी। गौरतलब है कि यह बांग्लादेशी फ्लाइट सात अगस्त 2015 से रायपुर विमानतल पर ही खड़ी हुई है। सात अगस्त 2015 को इस फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग हुई थी।

यह बांग्लादेशी फ्लाइट को यहां से ल जाने के लिए रायपुर विमानतल अथारिटी द्वारा अभी तक पचास से अधिक बार पत्र व ई-मेल किए जा चुके हैं। इस संबंध में स्वामी विवेकानंद विमानतल के निदेशक राकेश सहाय ने बताया कि बांग्लादेशी एयरलाइंस से मिले पत्र के आधार पर ही विधि विभाग से चर्चा कर रकम जमा करने के बाद ही प्रक्रिया शुरू करने की बात पत्र में लिखी गई है। अभी तक कंपनी की ओर से इसका कोई जवाब नहीं आया है। बांग्लादेशी कंपनी की ओर से जवाब मिलने का इंतजार किया जा रहा है।

विमान बेचकर किराया चुकाने की भी कही गई थी बात

बांग्लादेश की यूनाइटेड एयरलाइंस द्वारा पिछले दिनों रायपुर विमानतल प्रबंधन को पत्र भी लिखा गया था कि वह इस फ्लाइट को बेचकर अपना किराया चुकाने तैयार है। मगर, उसके बाद कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ने लगी और यह प्रक्रिया थोड़ी रुक गई।

कोरोना का भय कम होते ही बढ़ने लगे हवाई यात्री

कोरोना का भय थोड़ा कम होते ही अब रायपुर विमानतल से आने जाने वाले हवाई यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। 30 मई से छह जून तक के हफ्ते में हवाई यात्रियों की संख्या में उसके पिछले हफ्ते की तुलना में 24 फीसद की बढ़ोतरी हुई है।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local