रायपुर। छत्तीसगढ़ के बच्चे लगातार अपनी प्रतिभा से प्रदेश का नाम ऊंचा कर रहे हैं। हर क्षेत्र में यहां के बच्चे देश-विदेश में झंडे गाड़ रहे हैं। डूंडा स्थित कृष्णा पब्लिक स्कूल के बच्चों ने उच्च स्तरीय परीक्षा में शानदार प्रदर्शन किया है। दो चरणों में आयोजित राष्ट्रीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में चार बच्चों का चयन हुआ है।

स्कूल की प्राचार्य प्रियंका त्रिपाठी कहती हैं कि राज्य स्तरीय और राष्ट्र स्तरीय इस प्रतियोगिता में देश भर के करीब आठ हजार विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया था। केपीएस के 11 स्टूडेंट्स शामिल थे, जिन में मंशा कोचर, विशाखा लिल्हारे, अंशुल वर्मा और शिवांश पटेल द्वितीय स्तर पर सफल हुए हैं। अब इन बच्चों को एनटीएसई की ओर से स्कॉलरशिप दी जाएगी। छात्रों की इस सफलता से स्कूल के डायरेक्टर आशुतोष सहित सभी पदाधिकारियों ने बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

गौरतलब है कि यह प्रतियोगिता एनसीईआरटी की ओर से आयोजित की जाती है। इसमें रसायन, भौतिक, जीवविज्ञान , सामाजिक विज्ञान, गणित के साथ-साथ बौद्धिक क्षमता से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इस प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य देश भर से प्रतिभाशाली विद्यार्थियों की खोज करना और उन्हें उच्च स्तरीय शिक्षा के लिए अवसर प्रदान करना है।

डांस से पढ़ाया स्वच्छता का पाठ

गाड़ी वाला आया देखो कचरा निकाल.. यह एक ऐसा गाना है जिसे पूरी राजधानी पसंद कर रही है। इस गाने की धुन सुनते ही शहर के लोग अपने घरों से कचरा निकालकर गाड़ी में डालते हैं। इसी दृश्य को डब्ल्यूआरएस स्थित केंद्रीय विद्यालय के बच्चों ने डांस के माध्यम शानदार तरीके से प्रस्तुत किया। दरअसल स्कूल में स्वच्छता पखवाड़ा मनाया रहा है।

इसके अंतर्गत विद्यालय में अनेक कार्यक्रम आयोजित हुए। इस मौके पर स्कूल के बच्चे हाथों में झाड़ु लिए स्वच्छता के लिए लोगों को जागरूक करते दिखाई दिए। वहीं 8-10 की संख्या में बच्चे एक कतार पर गाड़ी की तरह चल रहे थे और कुछ बच्चे उसमें कचरा डालते हुए लोगों को जागरूक करने की कोशिश कर रहे थे। इसमें स्कूल के शिक्षकों के साथ बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स शामिल हुए।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket