रायपुर। Corona vaccine in chhattisgarh: राजधानी समेत प्रदेश भर में सोमवार को टीकाकरण किया गया है। इसमें 60 फीसद लेागों ने टीका लगवाया है, जबकि 40 फीसद लोग नहीं पहुंच पाए हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जिले के पांच सेंटरों में 500 लोगों का टीकाकरण का किया जाना था। इसमें 301 स्वास्थ्य कर्मियों ने टीका लगवाया, जबकि 199 लोग नहीं पहुंच पाए। टीकाकरण के पहले दिन भी 500 की जगह 344 लोगों ने ही टीका लगवाया था। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिन स्वास्थ्य कर्मियों ने बारी आने के बाद भी टीका नहीं लगवाया है। या नहीं पहुंचे हैं, उनकी सूची बनाई जा रही है। सभी को टीका लगवाना अनिवार्य है। टीकाकरण के दिन एम्स में पहले टीका लगवाकर लोगों को संदेश देने वाले डायरेक्टर डा. नितिन एम. नागरकर ने कहा कि मैंने कोरोना का टीका लगवाया है। टीका लगवाने के दो दिन बाद भी किसी तरह की समस्या नहीं आई है। कोरोना का टीका पूरी तरह सुरक्षित है।

एइएफआइ के मामलों के लिए है समुचित व्यवस्था

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक टीकाकरण के उपरांत एइएफआइ (एडवर्स इवेंट्स फालोइंग इमुनाइजशन) मामलों के प्रबंधन के लिए हर जिले में समुचित व्यवस्था की गई है। इसके तहत टीकाकरण केंद्रों को बड़े अस्पतालों से जोड़ा गया है, ताकि टीका लगाने के बाद किसी तरह की दिक्कत आए तो चिकित्सक की निगरानी में अस्पताल पहुंचाया जा सके। कोविड-19 को लेकर प्रदेश में 104 नंबर कंट्रोल रूम पर फोन किया जा सकता है या पास के स्वास्थ्य केंद्र में इसकी जानकारी दी जा सकती है। एंबुलेंस सेवा भी सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी।

जिले के पांच केंद्रों मंे टीकाकरण की स्थिति

केंद्र - लक्ष्य - 16 जनवरी - 18 जनवरी

मेडिकल कालेज रायपुर - 100 - 56 - 62

एम्स - 100 - 71 - 40

जिला अस्पताल पंडरी - 100 - 53 - 45

एनएचएमएमआइ अस्पताल - 100 - 88 - 85

मिशन हास्पिटल तिल्दा - 100 - 76 - 69

कुल - 500 - 344 - 301

--

डाक्टर बोले

सीएमएचओ रायपुर डा मीरा बघेल ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। टीका से डरने की जरूरत नहीं है। जिन्होंने पंजीयन कराया है। सभी को टीका लगवाना अनिवार्य है। कोरोना वैक्सीन के लिए नंबर आने के बाद भी जो नहीं पहुंच रहे हैं। उनकी सूची बनाई जा रही है। वहीं एम्स के डायरेक्टर डा निनित एम नागरकर बोले कि कोरोना वैक्सीन सुरक्षित है। इसमें किसी तरह की दिक्कत नहीं है। टीका लगने के बाद जिन लोगों को थोड़ी दिक्कत जैसे हल्का दर्द, बुखार, उल्टी के लक्षण नजर आए थे। वह सामान्य थे। टीकाकरण के लिए डरना नहीं लोगों को सामने आना चाहिए।

Posted By: kunal.mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags