रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Coronavirus in Chhattisgarh कोरोना मुक्त होते प्रदेश में लगातार बढ़ते संदेहियों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। जहां होम आइसोलेशन में रखे लोगों का आंकड़ा 73 हजार पार हो गया है। वहीं एक फरवरी से 30 फरवरी तक विदेश या अन्य राज्यों से यात्रा कर आए कई लोगों की तलाश स्वास्थ्य टीम कर रही है, ताकि उनका सैंपल लिया जा सके, लेकिन कई लोगों की जानकारी नहीं मिलने से स्वास्थ्य टीम की दिक्कतें बढ़ गई है।

इधर होम आइसोलेशन में रखे गए लोगों की मॉनिटरिंग का जिम्मा भी जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ पुलिस को भी दिया गया है, जिससे उनकी निगरानी की जा सके। प्रदेश में जिस तरह से 10 कोरोना पॉजिटिव केस में लगभग 90 फीसद में पूरी तरह ठीक होकर घर लौट गए हैं। ऐसे में अब सरकार नहीं चाहती कि किसी तरह की लापरवाही से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़े। प्रदेश के क्वारंटाइन सेंटर में भी रखे गए संदेहियों की संख्या बढ़कर 146 हो गई है।

2303 लोगों के लिए सैंपल

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार सोमवार तक 2303 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। इसमें से 2281 सैंपल निगेटिव आए हैं, जबकि 12 सैंपल की जांच जारी है। आपको बता दें कि प्रदेश में मिले 10 मरीजों में नौ पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। एक युवक का इलाज एम्स में चल रहा है। उसकी स्थिति भी स्थिर बताई जा रही है।

एन-95 और पीपीई किट की आपूर्ति

मास्क और पीपीई किट की कमी से जूझ रहे अस्पतालों में सीजीएमएससी के माध्यम से जरूरत हिसाब से पीपीई किट और एन-95 मास्क की आपूर्ति की गई है। आपको बता दें कि प्रदेश में एन-95 मास्क की किल्लत को देखते हुए पिछले दिनों सीजीएमएससी ने 19500 मास्क मंगाए थे। वहीं थ्री लेयर मास्क की आपूर्ति भी पर्याप्त की जा रही है।

संदेहियों की दें सूचना

स्वास्थ्य विभाग आइसोलेशन में मौजूद लोगों के नियम तोड़ने या संदेहियों की जानकारी देने की अपील की है। इसके लिए कोई भी व्यक्ति 104 टोल फ्री नंबर, 9301260141 या 9301240141 पर कॉल कर अधिकारी को जानकारी उपलब्ध करा सकते हैं। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की जाएगी।

इनका कहना है

कोरोना के इलाज के लिए हर जिले में अलग व्यवस्था की जा रही है। रायपुर मेडिकल कॉलेज में व्यवस्था बनाने की प्रक्रिया तो शुरू हो गई है। यहां अभी 500 बिस्तर की व्यवस्था की जाएगी। पूरे अस्पताल को कोविड-19 के लिए ही तैयार किया जाएगा। सिर्फ यहां कैंसर का ही इलाज होगा। बचे वार्ड को जिला अस्पताल, डीकेएस और अन्य परिसर में शिफ्ट होंगे। बिलासपुर, अंबिकापुर, रायगढ़, राजनादंगांव और जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में भील व्यवस्था की जा रही है। हमारा टार्गेट 5500 बिस्तरों का है, यह जल्द ही पूरा होगा।

- टीएस सिंहदेव, स्वास्थ्य मंत्री

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना