रायपुर। Coronavirus update in Chhattisgarh: कोरोना संक्रमण के फैलाव की वजह से जहां प्रदेश की स्थिति खराब होते जा रही है। वहीं राहत की खबर यह है कि प्रदेश में कोरोना को मात देने वाले 58.22 फीसद लोग घर पर ही ठीक हो गए। जबकि 41.77 फीसद संक्रमितों को अस्पताल से राहत मिली।

बता दें कि राज्य में अब तक 2,25,497 संक्रमित मिले हैं। इमसें 2,00,825 लोग यानी 89 फीसद लोग कोरोना का मात दे चुके हैं। स्वस्थ हुए 83,896 लोगों का इलाज अस्पताल में किया गया है। इसमें सभी मरीजों में लक्षण थे, साथ ही लगभग 10 से 15 फीसद मरीज अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे। वहीं 1,16,929 कोरोना मरीजों का इलाज होम आइसोलेशन में किया गया है। इसमें अधिकांश बिना लक्षण व कम लक्षण वाले थे। चिकित्सकों के अनुसार जिनमें लक्षण नजर आया, उनकी स्थिति भी चिंताजनक नहीं थी। चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार यह मरीज इसलिए स्वस्थ हुए क्योंकि संक्रमण की जानकारी समय पर लगने की वजह से बेहतर उपचार मिल पाया। लक्षण नजर आने पर तुरंत जांच के बाद यदि समय पर इलाज मिल जाता है तो स्थिति खतरे से बाहर रहती है। कोरोना तेजी से फैलता है, इसलिए इसकी पहचान देर से होने की स्थिति में यह फेफड़ों के साथ ही शरीर के अन्य अंगों को प्रभावित करता है। और मरीज की स्थिति गंभीर हो जाती है।

रायपुर में 220 समेत राज्य में मिले 1829 मरीज, 21 की मौत

राजधानी में 220 समेत राज्य में मंगलवार को 1,829 कोरोना मरीज मिले हैं। 827 लोग स्वस्थ्ा हुए जबकि 21 की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार रायगढ़ में 167, राजनांदगांव में 155, कोरबा में 153, जांजगीर-चांपा में 149, दुर्ग में 130, बिलासपुर में 119 समेत अन्य जिलों के भी मरीज शामिल हैं। राज्य में 24 घंटों में 33,049 सैंेपल लिए गए हैं। वहीं अब तक 23,53,818 सैंपल की जांच की गई है। इसमें से 2,27,326 लोग पाजिटिव आए हैं। इसमें से 2,01,744 लोग स्वस्थ और 2,767 लोगों की मौत हुई है। जबकि 22,815 लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

प्रदेश में सप्ताहभर में स्वस्थ होने वाले मरीजों की रिपोर्ट

तिथि,नवंबर - स्वस्थ - अस्पताल - होम आइसोलेशन

17 - 1495 - 137 - 1358

18 - 1402 -232 - 1170

19 - 1323 - 146 - 1177

20 - 1185 - 108 - 1177

21 - 1277 - 168 - 1109

22 - 921 - 92 - 829

23 - 1287 - 105 - 1182

राज्य में माह दर माह कोरोना की स्थिति

महीना - संक्रमित - सक्रिय - मौत

18 मार्च से 31 मई - 492 - 377 - 01

1 से 30 जून - 2266 - 595 - 12

1 से 31 जुलाई - 6342 - 2908 - 41

1 से 31 अगस्त - 22361 - 14237 - 223

1 से 30 सितंबर - 82549 - 30927- 680

1 से 31 अक्टूबर - 73668 - 22090 - 1144

1 से 23 नवंबर - 38226 - 21926 - 645

स्थिति गंभीर होने पर ले जाया जाता है अस्पताल

राज्य नोडल अधिकारी, कोरोना नियंत्रण अभियान डा. सुभाष पांडेय ने कहा कि प्रदेश में अब तक दो लाख से अधिक लोग स्वस्थ हो चुके हैं। इसमें अधिकांश लोग घर पर ही स्वस्थ हुए हैं। कोरोना के लक्षण नजर आने पर जल्द जांच कर उसकी पहचान कर लेते हैं तो समय पर इलाज के बाद मरीज जल्द स्वस्थ हो जाते हैं। सामान्य मरीजों का घर पर ही इलाज हो जाता है। वहीं कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर उन्हें अस्पताल ले जाया जाता है। इसलिए लक्षण नजर आएं तो समय पर जांच कराना जरूरी है।

होम आइसोलेशन की सुविधा ने दी राहत

स्वास्थ्य विभाग द्वारा बिना लक्षण व कम लक्षण वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की सुविधा राहत देने वाली रही। जो लोगों को भी पसंद आ रहा है। इसमें निजी और शासकीय दो तरह की सेवाएं दी जा रही है। निजी सेवा में निजी अस्पताल के चिकित्सकों से सलाह व इलाज ले सकते हैं। वहीं शासकीय सेवा के तरह चिकित्सकों की परामर्श सुविधाएं निश्शुल्क दी जाती है।

Posted By: kunal.mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस