रायपुर। Japanese Encephalitis : जापानी इंसेफलायटिस (जेई) ऐसी खतरनाक बीमारी है, जिसमें 70 फीसद रोग से ग्रसित बच्चों की या तो मौत हो जाती है या वे दीर्घकालिक न्यूरोलाजिकल विकलांगता से ग्रसित हो जाते हैं। ऐसे में इस बीमारी के प्रति जागरूकता और रोकथाम के लिए छत्तीसगढ़ के पांच जिलों में 23 नवंबर से 18 दिसंबर अभियान शुरू किया जा चुका है।

इसमें एक से 15 वर्ष तक के बच्चों को टीकाकरण का लाभ मिलेगा। राज्य सरकार ने 10 लाख बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। जिन जिलों में अभियान चल रहा है, उनमें बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, धमतरी और कोंडागांव शामिल हैं। राज्य टीकाकरण अधिकारी डा. अमर सिंह ठाकुर ने बताया कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए जेई टीकाकरण अभियान चार सप्ताह तक चलेगा।

पहले दो सप्ताह सरकारी और गैर सरकारी विद्यालयों जहां पर 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चे पढ़ते हों, वहां टीकाकरण किया जाएगा। इसी तरह अगले दो सप्ताह (अभियान के तीसरे और चौथे सप्ताह) अभियान समुदाय अर्थात गांव के स्वास्थ्य केंद्रों, आंगनबाड़ी केंद्रों, अतिरिक्त केंद्रों, उपकेंद्रों और अन्य नियमित टीकाकरण सत्र स्थल ईंट भट्ठे आदि स्थलों पर चलेगा। इस दौरान यह प्रयास किया जाएगा कि कोई भी बच्चा टीके से वंचित ना रहे।

जापानी इंसेफेलाइटिस

दिमागी बुखार विषाणुजनित मस्तिष्क का इनफेक्शन है। यह मच्छर के काटने से फैलता है। जापानी इंसेफेलाइटिस वायरस जेईवी सूअरों और पक्षियों में पाया जाता है और जब मच्छर इन संक्रमित जानवरों को काटते हैं, तो यह विषाणु मच्छरों में भी पहुंच जाता है। जेई एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलता है।

बीमारी के लक्षण

तेज बुखार, भ्रम की स्थिति, हिलने-डुलने में दिक्कत, दौरे, शरीर के अंगों का अनियंत्रित ढंग से हिलना और मांसपेशियां कमजोर होना शामिल है। इसके लक्षण गंभीर हो सकते हैं और उपचार न करवाने पर जानलेवा भी हो सकते हैं।

बचाव के उपाय

बच्चों को अग्रिम टीके लगाना, बीमारी का लक्षण मिलते ही अविलंब अस्पताल ले जाकर जांच कराना, चिकित्सक के परामर्श के अनुसार इलाज कराना, मच्छरों से बचाव के साधन अपनाना, मच्छर पनपने नहीं देना आदि इस बीमारी से बचाव के उपाय हैं।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस