रायपुर। Loot in Raipur: एक्सप्रेस-वे रोड पर लूट की झूठी कहानी रचने वाले एक बिस्किट कारोबारी के सेल्समैन को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित ने 92 हजार रुपये नकदी और चांदी की अंगूठी लूटने की जानकारी पुलिस को दी थी। प्रार्थी के बयान के बाद पुलिस को शक बढ़ा। लगातार वह बयान बदल रहा था। जिसके बाद पुलिस ने जब कड़ाई से पूछताछ की तो आरोपित ने कर्ज में डूबने की वजह से मालिक को चूना लगाने लूट की कहानी रखी।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार शाम रायपुर की पुलिस के पास लूट की वारदात की खबर पहुंची। इलाके में आस-पास के थानों को अलर्ट किया गया। लुटेरों को पकड़ने अफसरों और जवानों की टीम एक्टिव हुई। सेल्समैन के बयान के आधार पर बाइक सवारों की पहचान के लिए नाकेबंदी भी की गई। कुछ लोगों के सीसीटीवी फुटेज भी दिखाए गए।

ये थी कहानी :

बिस्किट कारोबारी दीपेश कोडवानी ने पुलिस को बताया हमारी कंपनी का सेल्समैन है निखिल वालेचा, इसने मुझे फोन पर कहा कि एक्सप्रेस-वे के पास दो लोगों ने मेरा रास्ता रोका, मुझसे मारपीट की और 92 हजार रुपए कैश, चांदी की अंगूठी लूटकर भाग गए। वालेचा ने कहा कि बाइक सवार लुटेरों ने उसकी आखों में मिर्च का पाउडर डाला और फरार हो गए। यही बात कारोबारी ने पुलिस को बताई।

अपने बयान में फंस गया था आरोपित :

लूट का गंभीर मामला होने की वजह से पुलिस सक्रिय हुई। निखिल से पुलिस ने उसके साथ हुई घटना के बारे में पूछा, लुटेरों के हुलि, के बारे में पूछा, जगह के बारे में पूछा। इसके बाद टीम ने घटनास्थल के आस-पास लगे कैमरों को जांचा। निखिल के साथ ऐसा कुछ भी होता नहीं दिखाए फिर पुलिस का शक निखिल पर गहराया और पूरे कांड की नई और असल कहानी सामने आई।

कर्ज हो गया था :

निखिल ने इस लूट कांड को अपने दिमाग में रचा था। जब पुलिस को लूट का कोई सबूत नहीं मिला तो निखिल से अपनी प्लानिंग के बारे में बताया। उसने कहा कि घर के खर्च और कर्जे की वजह से परेशान था। बिस्किट कारोबारी निखिल को कैश कलेक्शन का काम सौंपा था। इसी का फायदा उठाने की सोची, निखिल को लगा कि पुलिस भी उसकी बात मान लेगी और कलेक्शन के रुपयों को अपने कर्ज को चुकाने में इस्तेमाल कर देगा, मगर कुछ ही घंटों में इस फर्जी लूट कांड का सच सामने आया, अब निखिल से कैश बरामद करके पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close