रायपुर (राज्य ब्यूरो)। प्रदेश में खरीफ सीजन में किसानों को बेचे गए तीन प्रतिशत बीज और छह प्रतिशत से अधिक रासायनिक खाद अमानक पाए गए हैं। कृषि विभाग की जांच में बीज के 99 और खाद के 109 नमूने फेल हो गए। अमानक पाए गए बीजों में धान और मक्का के साथ ज्यादातर तिलहन फसल के हैं। ज्यादातर बीजों में निर्धारित समय में अंकुरण ही नहीं हुआ। इसे देखते हुए कृषि विभाग ऐसे बीजों के लाट की बिक्री पर रोक लगाने के साथ ही संबंधित विक्रेताओं को नोटिस भी जारी किया है।

कृषि विभाग के अफसरों के अनुसार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार राज्य में रासायनिक उर्वरकों, बीज और कीटनाशक औषधि की गुणवत्ता पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। कृषि विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी अपने-अपने इलाकों में लगातार दबिश देकर बीज, खाद और कीटनाशक औषधियों के नमूने ले रहे हैं, जिसकी जांच गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला में की जा रही है। अपर संचालक कृषि (उर्वरक) एससी पदम ने बताया कि खरीफ सीजन 2022 में बीज के 5,000, उर्वरक के 3,000 और पौध संरक्षण औषधि के 500 नमूने लिए जाने का लक्ष्य है।

विभागीय अधिकारियों की टीम द्वारा अब तक बीज के 2,907 नमूने लिए गए हैं, जिन्हें प्रयोगशाला भेजकर परीक्षण कराया गया है। परीक्षण में 2,798 नमूने मानक स्तर व 99 अमानक स्तर के पाए गए हैं। इसी तरह रासायनिक उर्वरकों की गुणवत्ता की जांच-पड़ताल के लिए कृषि विभाग के उर्वरक निरीक्षकों द्वारा 1,946 नमूने विभिन्न् संस्थानों से लिए गए हैं। जांच उपरांत 1,663 नमूने मानक स्तर और 109 नमूने अमानक स्तर के मिले हैं। 146 नमूने अभी जांच की प्रक्रिया में हैं, जबकि 28 नमूने कतिपय कारणों से निरस्त कर दिए गए हैं।

अमानक बीज एवं खाद के लाट के विक्रय को विभाग द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के साथ संबंधित संस्थाओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कृषि विभाग की टीम कीटनाशक औषधियों के गुणवत्ता की भी लगातार जांच कर रही है। जांच पड़ताल टीम ने अब तक कुल 23 नमूने विभिन्न् फर्मों से लिए हैं, जिनमें से 17 नमूनों का विश्लेषण करने पर सभी मानक स्तर के पाए गए हैं। चार सैंपल निरस्त हुए हैं, वहीं दो नमूने की जांच जारी है।

अब तक नौ लाख 40 हजार 597 क्विंटल बीज वितरित

चालू खरीफ सीजन में राज्य के किसानों को सरकारी समितियों एवं निजी क्षेत्र के माध्यम से प्रमाणिक बीज उपलब्ध कराए जा रहे हैं। अब तक किसानों को विभिन्न् खरीफ फसलों के नौ लाख 40 हजार 597 क्विंटल प्रमाणिक बीज दिए जा चुके हैं, जो कि नौ लाख 52 हजार 788 क्विंटल भंडारित बीज का 95 प्रतिशत है। किसानों को दिए गए बीज में आठ लाख 68 हजार 433 क्विंटल धान के बीज हैं। 39 हजार 190 क्विंटल मक्का, 4624 क्विंटल अरहर, 14,836 क्विंटल सोयाबीन व 13,514 क्विंटल अन्य खरीफ फसलों के बीज शामिल हंै।

किसानों को 11.79 लाख टन रासायनिक उर्वरक वितरित

प्रदेश में किसानों को अब तक 11 लाख 79 हजार 143 टन उर्वरक का वितरण किया जा चुका है। इसमें छह लाख 15 हजार 745 टन यूरिया, दो लाख 35 हजार 463 टन डीएपी, 69 हजार 997 टन एनपीके, 43 हजार 245 टन पोटाश तथा दो लाख 14 हजार 693 टन सुपर फास्फेट शामिल है। बता दें कि चालू खरीफ सीजन के लिए राज्य में सहकारिता व निजी क्षेत्र के माध्यम से किसानों को 14 लाख 12 हजार 35 टन खाद वितरण का लक्ष्य रखा गया है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close