बिलासपुर। आयुष्मान भारत की बीमा कंपनी का अनुबंध 15 को खत्म हो रहा है। दूसरी ओर प्रदेश शासन यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम लांच करने की तैयारी में है। इसे देखते हुए निजी अस्पताल 16 नवंबर से आयुष्मान से उपचार बंद करने पर विचार कर रहे हैं। स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों को पत्र लिखकर साफ किया है कि नया आदेश आने तक आयुष्मान योजना जारी रहेगी। अस्पतालों को क्लेम भी मिलेगा।

आयुष्मान भारत की बीमा क्लेम कंपनी रेलिगेयर का अनुबंध 15 नवंबर से खत्म हो जाएगा। कंपनी ने भी साफ कर दिया है कि वह अब इस अनुबंध को आगे नहीं बढ़ाना चाहती है। दूसरी ओर से राज्य शासन यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम को लागू करने करने पर गंभीरता से काम कर रही है। इसकी जानकारी आयुष्मान भारत से चयनित निजी अस्पतालों को भी मिल चुकी है। ऐसे में अस्पताल को यह चिंता सता रही है कि 15 नवंबर के बाद योजना के तहत उपचार करने पर क्लेम राशि नहीं मिलेगी। ऐसे में वे 16 नवंबर से उपचार बंद करने पर विचार कर रहे हैं।

इसकी जानकारी होने पर स्वास्थ्य विभाग ने सभी चयनित निजी अस्पतालों को पत्र जारी किया है। इसमें साफ किया गया है कि रेलिगेयर के जाने के बाद भी आयुष्मान से उपचार चलता रहेगा। शासन ने 15 नवंबर के बाद क्लेम राशि के लिए व्यवस्था बनाई है। पत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि प्रदेश में आयुष्मान को जारी रखने या नई योजना को लेकर आदेश जारी कर स्थिति साफ की जाएगी। इसे देखते हुए जानकारों का कहना है कि शासन जल्द ही नई योजना की घोषणा कर सकती है।

ट्रस्ट करेगा भुगतान

शासन की ओर से ट्रस्ट बनाया जा रहा है। इसके माध्यम से ही निजी अस्पतालों का क्लेम जारी किया जाएगा। यह निश्चित नहीं है कि प्रदेश में आयुष्मान भारत चलेगा या नहीं। इसकी जगह यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम को लाया जा सकता है।

मनमानी पर लगेगी रोक

मौजूदा स्थिति में आयुष्मान भारत से चयनित अस्पताल की मनमानी को लेकर ढेरों शिकायत मिल रही है। वे अपनी मर्जी से योजना के तहत उपचार करते हैं। कई बार हितग्राहियों को साफ मना कर दिया जाता है। ट्रस्ट आने के बाद इस पर लगाम लग पाएगी। शिकायत मिलने पर निजी अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इनका कहना है

बीमा कंपनी का अनुबंध खत्म हो रहा है। ऐसे में आयुष्मान से चयनित निजी अस्पताल भ्रम की स्थिति में हैं। जब तक शासन की ओर से आयुष्मान को लेकर कोई नया आदेश नहीं आ जाता है, उपचार प्रभावित नहीं होगा। अस्पतालों का क्लेम नहीं स्र्केगा।

डॉ. प्रमोद महाजन सीएमएचओ

Posted By: Hemant Upadhyay