रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पांच हजार रुपये रिश्वत लेने के आरोपी एएसआइ को नौ वर्ष बाद रायपुर की अदालत ने तीन वर्ष कैद और दो हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। यह सजा चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश अजय सिंह राजपूत ने सुनाई। यह मामला वर्ष 2013 का है। उस दौरान एएसआइ सरस्वतीनगर थाना में पदस्थ था।

सरस्वतीनगर थाना में पदस्थ था आरोपी एएसआई,

जानकारी के अनुसार, अभियुक्त बीआर वर्मा उर्फ बीजूराम वर्मा अप्रैल-2013 में सरस्वतीनगर थाना में सहायक उपनिरीक्षक के पद पर था। प्रार्थी पंकज कुमार वर्मा ने शिकायत की थी 12 अप्रैल 2013 और उससे पहले आरोपी बीआर वर्मा ने लैपटाप चोरी प्रकरण दर्ज न करने के एवज में उससे 20 हजार रुपये की मांग की थी।

रिश्वत के रूप में उसे पांच हजार रुपये दिए भी थे। 20 मार्च 2013 को 1500 रुपये दिए और बाकी राशि 3500 रुपये बाद में दिए। प्रार्थी ने बातचीत रिकार्ड कर एसीबी कार्यालय रायपुर को भी इसकी जानकारी दी। इसके बाद आरोपी एएसआइ पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर जांच की गई। आरोप सिद्ध होने पर चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश ने यह सजा सुनाई।

ट्रक समेत लोहा पार करने वाला ड्राइवर गिरफ्तार

रायपुर के सिलतरा स्थित शिवम स्टील कार्पोरेशन गेट के पास खड़ी ट्रक और उसमें भरा एमएस ब्लेड चोरी करने वाले आरोपित गुरप्रीत सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। धरसींवा थाने में अशोक यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 19 मई को श्री राम नवीन कुमार एंड संस सिलतरा से करीब शाम सात बजे शिवम स्टील कार्पोरेशन सांकरा के लिए एमएस ब्लेड अपने ट्रक में भरकर रात आठ बजे शिवम स्टील कार्पोरेशन के गेट के पास पहुंचकर ट्रक को खड़ा कर चालान को जमा किया। सिक्योरिटी गार्ड से पूछने पर उसने ट्रक को दूसरे दिन अंदर जाने की बात कही। अश्ाोक बाहर ट्रक खड़ी कर चला गया। दूसरे दिन सुबह आने पर देखा कि ट्रक गायब था। जांच पड़ताल में पुलिस को सूचना मिली कि एक व्यक्ति धनेली तालाब के पास ट्रक में भरे एमएस ब्लेड को सस्ते दाम में बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close