रायपुर। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव में हार के बाद अब भाजपा में घमासान तेज हो गया है। पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू के बयान के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने पलटवार किया है।

डॉ रमन ने रायपुर में पत्रकारों से चर्चा में कहा कि अभी इनके ज्ञान चक्षु खुलने लगे हैं। अभी इस तरह के और बयान आएंगे। चंद्रशेखर ने कहा था कि किसानों के साथ धोखा के कारण भाजपा को हार मिली है। किसानों के पैसे से मोबाइल बांटा जा रहा था। भाजपा को किसानों से माफी मांगनी चाहिए।

वहीं, भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राम विचार नेताम ने कहा कि हर नेता पहले कार्यकर्ता है। हम सब कार्यकर्ता हैं। यह कहने में कहीं कोई संशय नहीं है कि कार्यकर्ताओं का स्थान नेता से अधिक महत्वपूर्ण है। इसीलिए हम अपने कार्यकर्ताओं को देवतुल्य कहते हैं। देवतुल्य कार्यकर्ताओं की सक्रियता और निष्ठा से विश्व के सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी होने का गौरव हासिल करने वाले हमारे संगठन में परिवार केंद्रीत प्रवृत्तियों की बजाए कार्यकर्ता केंद्रित गतिविधियों का महत्व है। आज 16 राज्यों सहित केंद्र में हमारी सरकार के शीर्ष पदों के चेहरे इसका प्रमाण हैं।


नेताम ने याद दिलाई अटल की कविता

रामविचार नेताम ने सोशल मीडिया और अलग-अलग फोरम में प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक के बयान की निंदा पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता का जिक्र किया। उन्होंने कहा-बाधाएं आती हैं आएं, घिरें प्रलय की घोर घटाएं, पावों के नीचे अंगारे, सिर पर बरसें यदि ज्वालाएं, निज हाथों में हंसते-हंसते, आग लगाकर जलना होगा। कदम मिलाकर चलना होगा। नेताम ने कहा, जीत हार अभियान का हिस्सा है, हम जुटे है राष्ट्र निर्माण में, एक सशक्त राज्य के निर्माण के अभियान में। निर्माण के क्रम में हमे अब ज्यादा सजग रहने की जिम्मेदारी मिली है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close