रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना की रफ्तार बढ़ने के साथ ही हवाई यात्रियों की आवाजाही में कमी आने लगी थी। माह भर बाद हवाई यात्रियों की आवाजाही में बढ़ोतरी हुई। हालांकि उड़ानों की आवाजाही में कमी आ गई है। जानकारी के अनुसार स्वामी विवेकानंद विमानतल से 17 जनवरी से 23 जनवरी तक आने-जाने वाले हवाई यात्रियों की संख्या 19607 रही।

हवाई यात्रियों की यह संख्या इसके पिछले हप्ते की तुलना में 10 फीसद अधिक है। इसी प्रकार उड़ानों की आवाजाही 262 रही। उड़ानों की आवाजाही इसके पिछले हफ्ते की तुलना में पांच फीसद कम है।

इन दिनों कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए रायपुर विमानतल में आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर दी गई है। जिन यात्रियों के पास यह रिपोर्ट नहीं है,उनकी जांच विमानतल में ही की जाती है। पहले यह जांच मुफ्त थी,लेकिन अब इसका 380 रुपये शुल्क शुरू कर दिया गया है।

जनवरी दूसरे हप्ते में सर्वाधिक घटे है हवाई यात्री

जनवरी दूसरे हफ्ते यानि 10 से 17 जनवरी की अवधि में हवाई यात्रियों की आवजाही ज्यादा कम हुई और उड़ानों का रद होना भी ज्यादा रहा। इस अविध में रायपुर विमानतल से कुल 17797 हवाई यात्रियों की आवाजाही हुई थी और 276 उड़ानों की आवाजाही हुई थी।

उड़ानों का रद होना अभी भी जारी

यात्री कम मिलने की वजह से विमानन कंपनियों द्वारा रोजाना ही उड़ानों का रद किया जाना अभी भी जारी है। विशेषकर बैंगलुरू, हैदराबाद, मुंबई व कोलकाता की उड़ानें ज्यादा रद हो रही है। बताया जा रहा है कि जैसे ही कोरोना की रप्तार कम होगी और हवाई यात्रियों की आवाजाही में सुधार होगा। विमानन कंपनियों द्वारा फिर से उड़ानों की संख्या में बढ़ोतरी कर दी जाएगी।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local