रायपुर। नईदुनिया खेल प्रतिनिधि

शानदार फार्म में चल रही हीरल चौहान (छत्तीसगढ़) और देविका शीहाग (हरियाणा) की जोड़ी ने ऑल इंडिया जूनियर बैडमिंटन रैंकिंग टूर्नामेंट के युगल में ऑल इंडिया डबल्स रैंकिंग नंबर-3 व 4 की खिलाड़ी को हराकर इतिहास रच दिया। अंडर-15 बालिका युगल में हीरल चौहान (युगल रैंकिंग- 23) व देविका शीहाग ने अनुपमा उपाध्याय (रैंकिंग-3) हरियाणा और अनन्या चौहान (रैकिंग-4) उत्तराखंड को 33 मिनट हराकर पहला सेट आसानी से 21-12 से जीता। दूसरा सेट काफी रोमांचक रहा, लेकिन हीरल-देविका ने गेम प्वाइंट में 23-21 से दूसरा सेट भी अपने नाम कर लिया। दोनों ने जीत के बाद कहा कि यह अब तक की सबसे बड़ी जीत है। युगल में चार बार क्वार्टर फाइनल में मिली हार का हिसाब फाइनल में स्वर्ण पदक जीत कर पूरा किया।

बालक युगल अंडर-17 में छत्तीसगढ़ की ईशान भटनागर और जयादित्य प्रताप सिंह को रोमांचक मुकाबले में हार मिली और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 46 मिनट तक चले मुकाबले में प्रणव राव गंधंम और साई विष्णु पुलेला (तेलंगाना) ने 21-23, 25-23, 21-15 से हराकर खिताब पर कब्जा किया। दो सेट का फैसला गेम प्वाइंट से रोमांचक रहा। समापन समारोह और पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय बैडमिंटन संघ के महासचिव अजय कुमार सिंघानिया थे। अध्यक्षता उमर रशीद (इवेंट सचिव भारतीय बैडमिंटन संघ) ने की। अपने उद्बोधन में सिंघानिया ने छत्तीसगढ़ बैडमिंटन संघ की आयोजन व्यवस्था की खुल कर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जल्द ही छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों में सरकार के साथ मिलकर राष्ट्रीय स्तर की बैडमिंटन एकेडमी शुरू की जाएगी।

अन्य एकल और मिश्रित युगल के परिणामः

- अंडर-15 बालिका एकल में तस्नीम मीर (गुजरात) और साक्षी फोगट (राजस्थान) के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया। इसमें तस्मीर ने एकतरफा मुकाबले में 21-13, 21-8 से खिताब पर कब्जा किया।

- अंडर-15 बालक एकल में शंकर मुत्थुस्वामी (तमिलनाडु) ने अंकित मंडल (प. बंगाल) को 21-16, 21-6 से पराजित कर खिताब पर कब्जा किया।

- अंडर-17 बालिका एकल में तस्नीम मीर (गुजरात) ने कृति भारद्वाज (कर्नाटक) को 21-16, 21-9 से हराकर खिताब पर कब्जा किया।

- अंडर-17 बालक एकल में रोहन गुरबानी (गुजरात) ने प्रणव राव गंधंम (तेलंगाना) को 15-21, 21-19, 21-18 से हराकर खिताब पर कब्जा किया।

- अंडर-15 बालक युगल में दर्शन पुजारी एवं अभिनव ठाकुर (पंजाब) ने सताक्ष सिंह और साई सत्य सर्वेश (तमिलनाडु) को उलटफेर मुकाबले में 14-21, 21-18, 21-17 से हराकर खिताब पर कब्जा किया।

- अंडर-17 बालिका युगल में सानिया सिकंदर और वर्षिनी वीएस (केरल) ने कृति भारद्वाज और तान्या हेमंत (कर्नाटक) को 21-7, 22-20 से हराकर खिताब पर कब्जा किया।

- अंडर-17 मिश्रित युगल में एडविन जॉय और वर्षिनी वीएस (केरल) ने मुरुगप्पा के. एस और सानिया सिकंदर (कर्नाटक) को 21-18, 21-18 से हराकर खिताब जीता।

बॉक्स में....

हीरल और देविका ने कहा-पहली बार फाइनल जीतने का मौका था :

फाइनल का खिताब जीतने के बाद छत्तीसगढ़ की हीरल चौहान और देविका ने कहा कि उनके लिए युगल में पहला मौका था जब वे फाइनल में पहुंची थीं। उन्होंने ठान लिया था कि फाइनल का खिताब जीतना है। दोनों की जोड़ी साथ में कई मुकाबले खेल चुकी है। हीरल ने होम ग्राउंड होने का भी पूरा फायदा उठाया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020