रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जैन धर्म गुरुओं पर टिप्पणी करने का विरोध जताते हुए जैन साध्वियों के नेतृत्व में सकल जैन समाज ने अहिंसा मौन रैली निकाली। रैली एमजी रोड स्थित जैन दादाबाड़ी से निकलकर कचहरी चौक पहुंची। साध्वियों और समाज के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल अनुसुईया उइके को ज्ञापन सौंपकर टिप्पणी करने वाले छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के अध्यक्ष अमित बघेल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

जैन दादाबाड़ी में हजारों लोगों ने जताया विरोध

शनिवार को दोपहर 12 बजे जैन दादाबाड़ी में हजारों लोग एकत्रित हुए। सभा में साध्वी सुभद्रा श्रीजी और साध्वी शुभंकरा श्रीजी ने जैन संतों समेत समस्त हिंदू संतों पर की जाने वाली अवांछित टिप्पणी पर विरोध जताया। कहा कि तीर्थंकरों की वाणी का पालन करते हुए जैन धर्म के लोग हजारों साल से अहिंसा का पालन कर रहे हैं। विश्वभर में जैन धर्म की मिसाल दी जाती है। जीव हत्या को रोकने और अहिंसा का पालन करने में जैन समाज का अहम योगदान है। जैन साधु-साध्वी देशभर में भ्रमण करके अहिंसा के मार्ग पर चलने का संदेश देते हैं। संपूर्ण जैन समाज की शहर, प्रदेश, देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका है। ऐसे शांति प्रिय समाज के लिए भद्दी टिप्पणी करने वाले के खिलाफ सरकार को कठोर कदम उठाना चाहिए।

बालोद जिले के पाटेश्वर धाम में की थी टिप्पणी

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के अध्यक्ष अमित बघेल ने बालोद जिला स्थित पाटेश्वर धाम में बलि देने से रोकने वाले अहिंसावादी लोगों पर टिप्पणी की थी। बघेल ने धमकी दी थी कि यदि बलि देने से रोका गया तो आश्रम के पुजारियों, जैन संतों और परदेशिया लोगों की बलि देंगे। इसके बाद बवाल मचा। इसका प्रदेशभर में जैन समाज के लोगों ने विरोध जताया।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close