रायपुर। राजधानी का अंशुमन शर्मा अब सीनियर वर्ल्ड मिनी गोल्फ चैंपियनशिप में भाग ले सकेगा। इस प्रतियोगिता में शामिल होने में आर्थिक समस्या अब तक उसका रोड़ा बन रही थी, लेकिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वेच्छानुदान से उसके लिए 50 हजार स्र्पये की राशि स्वीकृत कर दी है।

मुख्यमंत्री ने प्रतियोगिता के लिए अंशुमन को शुभकामनाएं भी दीं। रक्षाबंधन के एक दिन पहले जनचौपाल में सीएम हाउस पहुंची दिव्यांग बहनों ने मुख्यमंत्री के हाथ में धान की राखी बांधी। मुख्यमंत्री ने इन दिव्यांग बहनों को हर तरह से मदद करने का आश्वासन दिया।

बुधवार को मुख्यमंत्री ने सीएम हाउस में आमजन से मिलने के लिए जनचौपाल लगाया। प्रदेशभर के लोग मुख्यमंत्री के पास अपने समस्या लेकर पहुंचे। इसमें से एक रायपुर के दलदल सिवनी का निवासी अंशुमन था। उसने मुख्यमंत्री को बताया कि चीन के झाऊजुआंग में इसी साल 23 से 27 अक्टूबर तक सीनियर वर्ल्ड मिनी गोल्फ चैंपियनशिप का आयोजन हो रहा है।

उसे अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है। अंशुमन ने मुख्यमंत्री से चीन जाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने की अपील की। मुख्यमंत्री ने तत्काल उसके लिए राशि स्वीकृत करने के लिए कहा, यह सुनते ही अंशुमन खुश हो गया।

मुख्यमंत्री से मिलने नवचेतना समूह की सीमा भरतिया और रोशनी समूह की किरण साहू पहुंची। उन्होंने बताया कि उनके समूह की महिलाएं राखी और ज्वेलरी बनाती हैं, लेकिन उनके पास दुकान नहीं है। इस कारण महिलाओं को घूम-घूमकर राखी और ज्वेलरी बेचनी पड़ती है। मुख्यमंत्री ने उन्हें दुकान उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया। समस्या लेकर जनचौपाल में पहुंचे वृद्धजनों और दिव्यांगों के पास मुख्यमंत्री खुद पहुंचे और उनका आवेदन लिया।


इलाज के लिए आर्थिक मदद की

मुख्यमंत्री ने बीमारी की समस्या लेकर पहुंचे लोगों की आर्थिक मदद की। गुंडरदेही विकासखंड के ग्राम जुनवानी निवासी अमृतलाल साहू को पेट की बीमारी के इलाज के लिए 20 हजार, जशपुर जिले के कांसाबेल विकासखंड के ग्राम देवरी की लकवाग्रस्त जोशीमती बाई के लिए 10 हजार, भिलाई के रिसाली निवासी लक्ष्मी देवी चंद्राकर के ब्रेन हेमरेज के ईलाज के लिए 20 हजार, राजनांदगांव जिले डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम मेढ़ा निवासी बोहरण देवांगन के लिए 10 हजार, रायपुर पुरानी बस्ती निवासी भुनेश्वरी यादव के थैलेसीमिया रोग के इलाज के लिए 10 हजार, दुर्ग जिले के पाटन विकासखंड के ग्राम देवादा निवासी प्रकाश शर्मा के प्रोस्टेट के इलाज के लिए 20 हजार स्र्पये की राशि स्वीकृत की।


अब खुद का व्यवसाय शुरू कर पाएंगे

कबीरधाम जिले के बोडला विकासखंड के ग्राम कांपा निवासी राजाराम साहू ने बताया कि उसने मोटरसाइकिल बनाने का काम सीखा है। गैरेज खोलकर वह अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकता है, लेकिन उसके पास पैसे नहीं है। मुख्यमंत्री ने उसके गैरेज खोलने के लिए 10 हजार स्र्पये स्वीकृत किए। ऐसे ही बिलासपुर जिले के मस्तूरी की रेखा गेंदले ने घर पर ही होटल शुरू करने के लिए आर्थिक मदद की अपील की, मुख्यमंत्री ने उसके लिए भी 10 हजार स्र्पये स्वीकृत किए।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket