रायपुर। नईदुनिया। छत्तीसगढ़ की सियासत में उथल-पुथल मचाने वाले बहुचर्चित अंतागढ़ ऑडियो टेपकांड के अहम किरदार मंतूराम पवार ने मंगलवार को अपनी आवाज का नमूना दिया। एसआइटी ने उन्हें आवाज का नमूना देने के लिए तलब किया था। सैंपल के रूप में उनसे वही बात दोहरवाई गई जो उन्होंने कथित ऑडियो सीडी में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से बात करते हुए कही थी।

मंतूराम मंगलवार को दोपहर पौने बारह बजे वाइस सैंपल देने के लिए अपने वकीलों के साथ रायपुर के गंज थाना स्थित एसआइटी दफ्तर पहुंचे। करीब पौन घंटे एसआइटी के अधिकारी कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद पवार को आंबेडकर अस्पताल के ईएनटी विभाग में लेकर गए।

वहां वकीलों की मौजूदगी में उन्होंने बंद कमरे में अपनी आवाज रिकॉर्ड कराई। वाइस सैंपल देने के बाद बाहर निकले मंतूराम पवार ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से टेलीफोन पर जो बात हुई थी, उसी को मैंने वाइस सैंपल के रूप में दोहराया है। अब मंतूराम के वाइस सैंपल को जांच के लिए लैब भेजा जाएगा, जहां अंतागढ़ टेपकांड के वाइस को मैच किया जाएगा।

मंतूराम ने मीडिया से चर्चा करते हुए एक बार फिर से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और अजीत जोगी पर हमला बोलते हुए कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि स्वयं की इच्छा से कानून का सहयोग कर रहा हूं। मैं चाहता हूं दूध का दूध और पानी का पानी हो। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता, अजीत जोगी और उनके बेटे अमित जोगी को भी बिना कहे वाइस सैंपल देकर इस प्रकरण का जल्द निराकरण करने में एसआईटी का सहयोग करना चाहिए।

उन्होंने आरोप लगाया कि इन लोगों ने ही अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव 2014 में मुझे नाम वापसी के लिए भी मजबूर किया था। फिर मैं भाजपा में चला गया। आरोप लगाया कि खरीदी- बिक्री में रमन सिंह, अजीत जोगी की अहम भूमिका थी, यही वजह है कि ये वाइस सैंपल देने वे सामने नहीं आ रहे हैं। डॉ. रमन सिंह को अपने दामाद पुनीत गुप्ता को वाइस सैंपल देने के लिए भेजना चाहिए, इसमें डरने की बात नहीं है।

फिरोज सिद्दीकी का अब वाइस सैंपल लेगी एसआईटी

एसआईटी प्रमुख उरला सीएसपी अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि मंतूराम पवार का वाइस सैंपल लिया गया। बुधवार को फिरोज सिद्दीकी को वाइस सैंपल देने के लिए तलब किया गया है।

यह है अंतागढ़ टेपकांड

अंतागढ़ विधानसभा सीट के 2014 के उपचुनाव में मंतूराम कांग्रेस प्रत्याशी थे और ऐन समय पर पर्चा वापस लेकर भाजपा को वाकओवर दे दिया था। इसके बाद एक ऑडियो टेप सार्वजनिक हुआ, जिसमें मंतूराम पवार के साथ पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, उनके पुत्र अमित जोगी और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता की कथित बातचीत था। इसमें सात करोड़ की डील चर्चा में रही थी।

Posted By: Sandeep Chourey