रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

रायपुर में आटो डीलर गाड़ी खरीदने वाले ग्राहकों से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के नाम पर अधिक पैसे वसूल रहे हैं। यही नहीं, कागजात देने में भी देरी की जा रही है। आरटीओ तक इसकी शिकायत कुछ ग्राहकों ने की है। लिहाजा आरटीओ द्वारा शिकायत की जांच कराई जा रही है।

अगर आप दोपहिया वाहन खरीदने के लिए आटो डीलर के पास जा रहे हैं तो अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी, क्योंकि राजधानी रायपुर के आटो डीलर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने के नाम पर अधिक पैसे वसूल रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट का सख्त आदेश है कि डीलरों को वाहन के साथ हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाकर देनी है, लेकिन इसकी निगरानी नहीं होने से आटो डीलर मनमानी कर रहे हैं। इससे जहां आटो डीलरों की जेब भर रही है, वहीं आम जनता पैसे देने को मजबूर हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि परिवहन विभाग शिकायत के बाद भी आटो डीलरों के ऊपर कार्रवाई करने के बजाय हाथ पर हाथ धरे बैठा है। छत्तीसगढ़ में वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने की योजना शुरू की गई है। विभाग ने इस काम को आटो डीलरों को सौंपा है। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट में यूनिक नंबर प्लेट लगाकर देनी है। उसी नंबर के आधार पर आरटीओ कार्यालय में वाहन का रजिस्ट्रेशन मिलेगा। जिन वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं होगी, उन वाहनों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाएगा।

नंबर प्लेट से छेड़छाड़ या निकाल नहीं सकेगा कोई

वाहन निर्माता अपने डीलरों को हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट उपलब्ध करवाएंगे और डीलर इस प्लेट को वाहनों में लगाने के बाद ही शोरूम से बाहर निकालेंगे। इसमें छेड़छाड़ नहीं किया जा सकता या निकाला नहीं जा सकता है। यदि निकालने की कोशिश की गई तो वह टूट जाती है।

केस वन

मोवा के संतोष कुमार दोपहिया वाहन खरीदने आटो डीलर के पास पहुंचे तो उनसे सात हजार रुपये अतिरिक्त मांगे गए। पूछने पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, आरटीओ की कागजी कार्रवाई पूरी करने का हवाला दिया गया।

केस टू

सेजबहार निवासी गणेश प्रसाद से आटो डीलर ने दोपहिया वाहन बेचने के एवज में पांच हजार रुपये अतिरिक्त वसूल लिए। पूछने पर कहा कि आरटीओ की बढ़ी हुई फीस देने के बाद ही रजिस्ट्रेशन मिलेगा।

यह होगा नंबर प्लेट से फायदा

-हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर आइएनडी लिखा होगा, साथ ही क्रोमियम प्लेटेड नंबर और इनबास होने के कारण इस नंबर प्लेट पर रात के समय भी वाहनों पर कैमरे के जरिए नजर रखना संभव होगा।

-पहले अपराधी नंबर प्लेट के साथ छेड़छाड़ कर फायदा उठा लेते थे, लेकिन अब हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर ऐसा करना संभव नहीं होगा।

-इन नंबर प्लेट पर लेजर इन प्रिंटिंग होगी, जिससे किसी भी वाहन के बारे में कभी भी आसानी से पता लगाया जा सकेगा।

-हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने के साथ ही इंजन, चेसिस नंबर सहित तमाम यूनिक जानकारियां भी नेशनल डाटाबेस में होंगी। इससे पूरे देश के वाहनों का एक सेंट्रलाइज्ड रिकार्ड होगा।

-सभी गाड़ियों का नंबर यूनिक रहेगा।

-स्नैप लाक से नंबर प्लेट लाक रहती है, यह खुल नहीं सकती है। यदि किसी को नंबर प्लेट बदलनी है तो नई नंबर प्लेट लगानी पड़ेगी।

वर्जन-

ग्राहकों से आटो डीलर अधिक पैसे वसूल रहे हैं, इसकी शिकायत मिली है। जांच के बाद कार्रवाई करेंगे।- शैलाभ साहू, आरटीओ रायपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस