रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर से लगे डूंडा स्थित एक्सिस बैंक से 16 करोड़ 40 लाख रुपये का फर्जीवाड़ा करने के मामले में पुलिस की गिरफ्त में आए दो बैंक मैनेजर समेत सात आरोपितों से पुलिस की टीम लगातार पूछताछ कर रही है। इस मामले में करीब आधा दर्जन और लोगों के नाम सामने आए हैं।

इधर आरोपितों की निशानदेही पर रविवार को 38 लाख रुपये और जब्त किए गए, वहीं अलग-अलग खातों में जमा 98 लाख रुपये को संबंधित बैंकों को अलर्ट कर होल्ड कराकर राशि वापसी की प्रक्रिया की जा रही है। आरोपितों से अब तक 1.22 करोड़ 95 हजार रुपये नकद बरामद किए जा चुके हैं।

एडिशनल एसपी अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि हैदराबाद से गिरफ्तार तेलंगाना के मेडक के सत्यनारायण वर्मा और तेलंगाना के राजेंद्रनगर जिले के सांई प्रवीण रेड्डी को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर पुलिस टीम रायपुर आ रही है।

दिल्ली, मुंबई व गुजरात में लगातार छापेमारी

पुलिस के मुताबिक फर्जीवाड़े में शामिल अन्य आरोपितों को दबोचने के लिए पुलिस की टीम दिल्ली, मुंबई, गुजरात, बेंगलुरु समेत अन्य राज्यों में लगातार छापेमारी कर रही है। एक्सिस बैंक के क्लस्टर हेड बी. आनंद ने मुजगहन थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि उनके बैंक में छत्तीसगढ़ राज्य कृषि मंडी बोर्ड का खाता है।

इस खाते से सतीश वर्मा और चंद्रभान सिंह ने अपने सहयोगियों साथ मिलकर फर्जी तरीके से चेकबुक जारी कराकर उसके माध्यम से लाखों रुपये निकाले और अलग-अलग शहरों के बैंक खातों में 16 करोड़ 40 लाख 12 हजार 655 रुपये ट्रांसफर करवा लिए। पुलिस ने इसके बाद खातों की जांच शुरू की तो पता चला कि हैदराबाद के कई बैंक खातों में राशि भेजी गई है। इसके बाद पुलिस टीम हैदराबाद पहुंची। वहां बैंक डिटेल के आधार पर दो और रायपुर में पांच लोगों को पकड़ा गया।

पहले दिन जब्त हुए थे 84 लाख

रायपुर के रहने वाले आरोपित सौरभ मिश्रा ने अपने परिचितों आबिद खान, एक्सिस बैंक के मैनेजर दुर्ग निवासी संदीप रंजन दास, रायपुर के समीर कुमार जांगड़े, कोटक महिंद्रा बैंक के मैनेजर गुलाम मुस्तफा और सत्यनारायण वर्मा, सांई प्रवीण रेड्डी के साथ मिलकर इस फर्जीवाड़े को अंजाम दिया था। आरोपितों की निशानदेही पर पहले दिन 84 लाख 95 हजार रुपये जब्त किए जा चुके हैं।

जांच के घेरे में दोनों बैंकों के अधिकारी-कर्मचारी

16 करोड़ से अधिक की ठगी मामले में एक्सिस और कोटक महिंद्रा बैंक के मैनेजरों की संलिप्तता ने सभी के होश उड़ाकर रख दिए हैं। पुलिस ने दोनों बैंक के अधिकारी-कर्मचारियों को जांच के घेरे में लिया है। शक है कि बिना अधिकारी-कर्मचारियों की मिलीभगत से करोड़ों का फर्जीवाड़ा नहीं किया जा सकता।

दिल्ली, आंध्र में भी लगा चुके हैं बैंकों को चूना

पुलिस की जांच में यह तथ्य भी सामने आया है कि हैदराबाद के शातिर ठग दिल्ली और आंध्र प्रदेश में भी बैंकों को करोड़ों रुपये का चूना लगा चुके हैं। वहां पर इनके खिलाफ केस भी दर्ज है। पुलिस पूरी जानकारी ले रही है। होल्ड कराए गए 98 लाख रुपये चार-पांच बैंक खातों के है, जबकि करीब 12 बैंकों से 1.22 करोड़ रुपये आहरण कर आरोपितों ने अपने परिचितों, रिश्तेदारों को दे रखे थे। पुलिस ने उनके पास से ये राशि बरामद कर ली है।

- हैदराबाद से ट्रांजिट रिमांड पर लाए जा रहे दो शातिर आरोपित

- पुलिस सात आरोपितों को पहले ही कर चुकी है गिरफ्तार

- 16 करोड़ 40 लाख के फर्जीवाड़े में अब तक 1.22 करोड़ 95 हजार

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close