रायपुर (नईदुनिया)। छत्तीसगढ़ में भी अयोध्या पर सु्प्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पुलिस अलर्ट हो गई है। शुक्रवार शाम को पुलिस व्यवस्था की समीक्षा की गई और जिलों के एसपी को जरूरी होने पर अतिरिक्त बल का बंदोबस्त करने को कहा गया था ताकि शांति व्यवस्था कायम रहे। राजधानी होने की वजह से रायपुर जिले में अवकाश पर गए पुलिस कर्मियों को वापस बुलाया जा सकता है।

शिक्षा संस्‍थान सुबह खुले मगर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले ही एहतियातन छुट्टी कर दी गई। निजी स्कूलों ने भी छुट्टी कर दी है। रायपुर कलेक्टर ने स्कूलों में तत्काल प्रभाव से छुट्टी देने के लिए आदेश जारी कर दिए। बैजनाथ पारा में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद एक अलग ही माहौल नजर आया यहां लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया। इस वार्ड के पार्षद ढेबर हाजी नाजिम उद्दीन अध्यक्ष शहर सीरत कमेटी,हाजी बदरूद्दीन खोखर सचिव ने कहा आपसी भाईचारे का बढ़िया फैसला सुप्रीम कोर्ट ने किया है।

स्कूल और कॉलेजों के पास अलर्ट जारी कर दिया गया है। कॉलेजों के आसपास अधिक संख्या में युवाओं को जुटने से रोकने के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

जिला प्रशासन ने जिले की शराब दुकानों को बंद करने का आदेश दिया है। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने निर्देश दिया है कि किसी भी सूरत में शराब दुकाने खुली नहीं रहनी चाहिए। इस दौरान किसी भी तरह हुड़दंग या उपद्रव न हो। लोग शांति से रहें इसके लिए प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद हो गया है।

मुख्यमंत्री बघेल और उसेंडी ने की अफवाहों से दूर रहने की अपील

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों से आपसी सद्भाव और शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने लोगों से अफवाहों के साथ सोशल मीडिया फेक न्यूज से दूर रहने की बात कही। बघेल ने बलरामपुर से ही फोन पर मुख्य सचिव और डीजीपी से चर्चा कर सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने पुलिस को 24 घंटे चौकन्ना रहने, इंटेलिजेंस को पुख्ता करने के निर्देश भी दिए हैं। वहीं, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी लोगों से आग्रह किया है कि वे शांति और सौहार्द बनाए रखें।

फैसले को ध्यान में रखकर रायपुर पुलिस को अलर्ट किया गया है। शहर के संवेदनशील स्थानों के साथ ही मंदिर और मस्जिदों के आसपास पुलिस बल की तैनाती की गई है। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर भी नजर रखने के लिए साइबर सेल की टीम को कहा गया है। पूरे शहर में बल तैनात किया गया है। थाने की पेट्रोलिंग टीम के साथ डॉयल 112, बाइक पेट्रोलिंग लगातार संवेदनशील इलाके में घूमेगी। पुलिस प्रशासन किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

सीसीटीवी कैमरे से निगरानी : शहर में लगे सीसीटीवी कैमरे से भी अफसर दिन भर की गतिविधियों पर निगाह रखेंगे। सादी वर्दी में संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों में जवानों को नजर रखने के लिए कहा गया है। किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति निर्मित होने पर अमले को तत्काल मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं। अफसरों ने बताया कि संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात रखे गए हैं।

Ayodhya Case 2019 Live Update : SC का बड़ा फैसला- विवादित जगह पर रहेंगे रामलला 'विराजमान', मुस्लिम पक्ष को मस्जिद के लिए दूसरी जमीन

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) नेता अमित जोगी ने अपनी पार्टी के नाम अपील जारी की है। इसमें कहा गया है कि परिवार से जुड़े सभी सदस्यों से निवेदन है कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले पर कृपया कोई भी ऐसी टिप्पणी अथवा प्रतिक्रिया न करें जिस से किसी भी धर्म, जाति, क्षेत्र अथवा समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचे।

Posted By: Prashant Pandey