रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राज्य स्तर पर दिए जाने वाले कायाकल्प पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना 2020-21 के अंतर्गत 18 जिला अस्पतालों, 32 सिविल अस्पतालों / सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, 160 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, 19 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं 151 उप स्वास्थ्य केंद्रों (हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर) को शामिल किया गया था। जिन स्वास्थ्य केन्द्रों के द्वारा 70 प्रतिशत या अधिक अंक हासिल किये गए हैं उन्हें कायाकल्प-स्वच्छ अस्पताल योजना के तहत विजेता, उपविजेता एवं अन्य को सांत्वना पुरस्कार दिया जाएगा।

इस संबंध में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन छत्तीसगढ़ के मिशन संचालक की ओर से पत्र जारी कर राज्य में कायाकल्प पुरस्कारों की घोषणा की गई है। जल्द ही राज्य स्तर पर कायाकल्प अवार्ड समारोह का आयोजन किया जाएगा।

प्रदेश में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत स्वच्छ अस्पताल योजना वर्ष 2015 से संचालित की जा रही है। इस परिप्रेक्ष्य में कायाकल्प अभियान मई 2015 से प्रारंभ किया गया है।

कायाकल्प अभियान के अंतर्गत प्रदेश में संचालित स्वास्थ्य संस्थाओं में सफाई प्रबंधन, रोग संक्रमण नियंत्रण, भवन एवं परिसर ,सौंदर्यकरण, रुग्ण सेवा में सुधार, के लिए समयबद्ध कार्यक्रम घोषित किया गया था, जिसके अंतर्गत आंतरिक मूल्यांकन, सहकर्मी मूल्यांकन एवं बाह्य मूल्यांकन की प्रक्रिया की गई जाती है, जिसके आधार पर प्रदेश स्तरीय पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं।

जिला अस्पताल श्रेणी

राज्य स्तर पर दिए जाने वाले कायाकल्प पुरस्कारों की घोषणा में जिला अस्पताल की श्रेणी में जिला अस्पताल बलरामपुर ने 89.1 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पाया है। वहीं, जिला अस्पताल बलौदाबाजार को 88.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान मिला है। जिला अस्पताल की श्रेणी में कुल 18 पुरस्कारों की घोषणा की गई है। प्रथम पुरस्कार पाने वाले जिला अस्पताल को 50 लाख रुपए एवं द्वितीय पुरस्कार पाने वाले जिला अस्पताल को 20 लाख रुपए की राशि और प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा।

अन्य 16 जिला अस्पतालों को सांत्वना पुरस्कार दिया गया है। जिसमें जिला अस्पताल कोरबा, जगदलपुर, बेमेतरा, जसपुर, बीजापुर, मुंगेली, रायपुर, कांकेर, सूरजपुर, दुर्ग, बालोद, कोरिया, बिलासपुर, जांजगीर, नारायणपुर एवं कवर्धा शामिल हैं। सांत्वना पुरस्कार पाने वाले जिला अस्पताल को 3 लाख रुपए की राशि और प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा।

सिविल अस्पताल/सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र/शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की श्रेणी

राज्य में सिविल अस्पताल/सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र/शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की श्रेणी में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नगरी जिला धमतरी ने 89.1 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है । वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सीतापुर जिला सरगुजा को 88.6 प्रतिशत अंक हासिल कर दूसरा स्थान पाया है । इस श्रेणी में कुल 32 केंद्रों को पुरस्कृत किया गया है । जिसमें प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को 15 लाख और द्वितीय स्थान को 10 लाख रुपए की राशि और प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा। अन्य 30 केंद्रों को सांत्वना पुरस्कार के रूप में एक लाख की राशि और प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा।

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की श्रेणी

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के तहत यूपीएचसी नवापारा जिला सरगुजा ने 99.2 प्रतिशत अंक के साथ प्रथम स्थान हासिल किया। वहीं, यूपीएससी शंकरपुर जिला राजनांदगांव ने 88.5 अंक के साथ द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। इस श्रेणी में कुल 19 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को पुरस्कृत किया गया है। प्रथम स्थान वालों को दो लाख एवं द्वितीय को 1.5 लाख रुपए और अन्य 17 को सांत्वना पुरस्कार के रूप में 50 हजार रुपये और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की श्रेणी

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की श्रेणी में कुल 160 अस्पतालों को पुरस्कृत किया गया जिसमें 24 विजेताओं को 2 लाख रु और अन्य 146 को 50 हजार रुपये और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

सब हेल्थ सेंटर-हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर (एसएचसी-एचडब्ल्यूसी)

सब हेल्थ सेंटर-हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर एसएचसी-एचडब्ल्यूसी की श्रेणी में पहला स्थान एसएचसी खोपा सूरजपुर को मिला है, जिसने 98.3 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। वहीं, राजनांदगांव के देवरीभाट रनर अप का पुरस्कार मिला और चिखली राजनांदगांव को द्वितीय रन अप का पुरस्कार मिला है। प्रथम स्थान पाने वाले केंद्र को एक लाख रनर अप को 50 हजार एवं द्वितीय रनर अप स्थान प्राप्त करने वाले को 35 हजार मिलेगा अन्य 148 एचडब्ल्यूसी को सांत्वना पुरस्कार दिया गया है।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close