रायपुर। Raipur Airport: स्वामी विवेकानंद विमानतल रायपुर में बीते साढ़े पांच साल से अधिक समय से खड़े बांग्लादेशी विमान को बेचकर रायपुर एयरपोर्ट का किराया चुकाएगी बांग्लादेशी विमान कंपनी। इस संबंध में बांग्लादेशी विमान कंपनी ने रायपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी को पत्र भेजा है और ई-मेल किया है। गौरतलब है कि सात अगस्त 2015 को ढांका से मस्कट जा रहे बांग्लादेश के यूनाइटेड एयरवेज के विमान (एमडी-83) की रायपुर विमानतल में आपात लैंडिंग हुई थी और तब से लेकर आज तक यह विमान रायपुर में ही खड़ा है।

इसके अगले दिन आठ अगस्त को ही इस विमान के यात्रियों को दूसरे विमान से भेजा गया था। स्वामी विवेकानंद विमानतल के निदेशक राकेश सहाय ने बताया कि अब तक बांग्लादेशी एविएशन कंपनी ने विमान ले जाने में रुचि नहीं दिखाई। इस संबंध में कंपनी को पचास से अधिक बार पत्र लिखा जा चुका है और ई-मेल किया जा चुका है। साथ ही विमानन कंपनी द्वारा किराया भी नहीं दिया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि पिछले दिनों इस बांग्लादेशी विमानन कंपनी ने एयरपोर्ट अथॉरिटी को पत्र लिखा है कि वह जल्द ही इस विमान को बेचकर एयरपोर्ट का किराया भुगतान करेगी। इस जानकारी के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी कानूनी सलाह ले रही है और उसके बाद आगे की कार्रवाई करेगी।

डेढ़ करोड़ से अधिक है किराया

करीब साढ़े पांच साल से अधिक समय से रायपुर विमानतल में खड़े इस बांग्लादेशी विमान का किराया ही डेढ़ करोड़ से अधिक हो गया है। इसे यहां से ले जाने के लिए तो कोई प्रयास नहीं किया गया। लेकिन दो साल पहले इसे अपने स्थान से थोड़ा खिसकाया गया था।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local