रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

बैंक ऑफ बड़ौदा ने एक अद्वितीय विचार-विमर्श की शुरुआत की है। इसमें एक ओर रायपुर क्षेत्र की सभी 116 शाखाओं ने अपने प्रदर्शन की समीक्षा की, बैंकिंग क्षेत्र के मुद्दों पर चर्चा की। दूसरी ओर भविष्य की रणनीति पर भी विचार किया। दो दिवसीय विचार विमर्श 17-18 अगस्त को आयोजित किया गया। यह पहल बैंक द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में अग्रिम को बढ़ाने के लिए तरीकों और संसाधनों को तलाशने, प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ाने, बड़े डेटा एनालिटिक्स को सक्षम बनाने, बैंकिंग को जन सामान्य केंद्रित बनाने के साथ-साथ, वरिष्ठ नागरिकों, किसानों, छोटे उद्योगपतियों, उद्यमियों, युवाओं, विद्यार्थियों और महिलाओं की आकांक्षाओं एवं जरूरतों को पूरा करने के लिए अधिक उत्तरदायी बनने पर केंद्रित थी।

बैठक के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में सुधारों के लिए सुझाव देने वाले, डोमिन विशेषज्ञों द्वारा दिए गए बिंदुओं पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक में बैंक के कार्य निष्पादन की समीक्षा की गई और आर्थिक विकास, बुनियादी ढांचे, उद्योग, कृषि क्षेत्र और ब्लू इकोनॉमी, जल शक्ति, एमएसएमई क्षेत्र और मुद्रा ऋण, शिक्षा ऋण, निर्यात ऋण, ग्रीन क्रेडिट जैसे क्षेत्रों में राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के अनुरूप बैंक की भूमिका की समीक्षा की गई। साथ ही स्वच्छ भारत, वित्तीय समावेशन और महिला सशक्तिकरण, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, कम नकदी/डिजिटल अर्थव्यवस्था, जीवनयापन में आसानी, स्थानीय प्राथमिकताओं और कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व की पूर्ति जैसे बिंदु पर विचार-विमर्श किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network